कुल्हाड़ी से काट कर बहन को उतार दिए मौत के घाट

शनिवार की शाम गंभीरा पूरब गांव में हुई घटना को सुन लोगों के खड़े हो गए रोंगटे

खबर मिलते ही फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे एसपी ने लिया जायजा

KAUSHAMBI: जिन भाईयों की कलाई पर राखी बांध कर बहन उससे हर साल सुरक्षा की उम्मीद करती थी शनिवार को वही उसके लिए जल्लाद बन गया. मंझनपुर कोतवाली के गंभीरा पूरब गांव में शाम के समय भाईयों ने अपनी सगी बहन सुबिहिती देवी को कुल्हाडी से काट कर मौत के घाट उतार दिया. घटना को सुनते ही ग्रामीणों की रूह कांप गई. वारदात को अंजाम देने के बाद कातिल इत्मिनान फरार हो गया. मौके पर लोग पहुंचे तो खून से लथपथ महिला का शव वहां पड़ा था. सूचना मिलते ही फोर्स के साथ घटना स्थल पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक ने मामले की गहन जांच की. इसके बाद शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. पुलिस कत्ल की वजह प्रेमप्रपंच मान रही है.

फोर्स के साथ पहुंचे एसपी

गंभीरापूरब गांव निवासी बैजनाथ राजगीर का काम करता है. शनिवार को वह काम पर गया था. इसी बीच सुबिहिती देवी पत्‍‌नी बैजनाथ को उसके सगे भाईयों ने कुल्हाड़ी से काट कर मौत के घाट उतार दिया. सनसनी खेज इस वारदात को अंजाम देने के बाद कातिल मौके से फरार हो गए. घटना के एक घंटे पहले ही उसके भाई उसे ससुराल छोड़ने आए थे. बताया जा रहा है कि विवाहिता आए दिन मायके का बहाना बनाकर भाग जाती थी. उसके भाइयों को आशंका थी कि उसका कहीं किसी से प्रेम संबध है. जिसे लेकर उसके पति और भाईयों में नहीं बनती थी. दस दिन पहले भी वह घर से गायब हुई थी.

घटना से ग्रामीण स्तब्ध

विवाहिता के कत्ल की खबर सुनते ही पुलिस अधीक्षक सीओ और मंझनपुर के साथ मय फोर्स घटना स्थल पर पहुंचे. जांच पड़ताल के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. विवाहिता की हत्या के बाद से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है. पुलिस के मुताबिक खून से लथपथ मां के शव को देख उसकी बेटी काफी दहशत में आ गई थी. मौके पर पुलिस पहुचंी तो उसके पांव कांप रहे थे. काफी प्रयास के बाद भी वे इतना दहशत में थी कि कुछ बोलने से कतरा रही थी. करीब आधे घंटे बाद जब वे कुछ नार्मल हुई तो पुलिस उससे कत्ल का आंखों देखा हाल बयान के रूप में दर्ज कर लिया.

बाक्स

मासूम बेटी पूजा बनी गवाह

गंभीरा पूरब गांव में शनिवार की शाम हुई सुबिहिती के कत्ल की गवाह उसकी दस वर्षीय बेटी पूजा है. पूछताछ में उसने पलिस को बताया है कि उसके मामा ने तीखी झड़प के बाद उसकी मां को कुल्हाड़ी से काटा डाला है. पहले भी मामा ने जान से मारने की धमकी दी थी. बताया गया कि विवाहिता की हत्या उसके भाई सुरेन्द्र और नरेन्द्र ने बदमानी से आजिज आने के बाद की है. बहन की हरकतों से भाई तंग आ चुके थे. समझाने के बाद भी उसकी आदतों में सुधार नहीं हो रहा था.

बाक्स

पति की सीधाई का उठा रही थी फायदा

राजगीर बैजनाथ के काम पर जाने के बाद पत्नी सुबिहिती देवी बच्चों को छोड़कर घर से फरार हो जाती थी. कई बार बैजनाथ के फटकारने भी जब वे नहीं मानी तो उसने उसके भाईयों को जानकारी दी थी. ज्यादा विरोध करने पर फर्जी मुकदमें में भी फंसाने की धमकी बैजनाथ को मिलती थी.

वर्जन

सुबिहिती देवी की हत्या उसके भाईयों ने ही की है. मृतका की बेटी पूजा ने पुलिस को घटना की पूरी जानकारी दे दी है. घटना के पीछे महिला के अवैध संबधों की बात सामने आ रही है. तहरीर मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी. पुलिस घटना की तहकीकात कर रही है.

वीके मिश्र, पुलिस अधीक्षक कौशांबी