- एआईसीटीई ने अपनी गाइड लाइन जारी कर दी है इसी सेशन से कोर्स लागू

- एचबीटीयू में थर्ड सेमेस्टर के स्टूडेंट्स साइबर सिक्योरिटी की पढ़ाई कर रहे हैं

kanpur@inext.co.in

KANPUR:

अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद ने न्यू एकेडमिक सेशन से ही बीटेक में साइबर सिक्योरिटी व इंडियन कांस्टीट्यूशन की पढ़ाई कराने का आदेश जारी कर दिया है. यह पहला मौका होगा जब इंजीनियरिंग बैक ग्राउंड के स्टूडेंट्स को बीटेक के थर्ड सेमेस्टर में इन दोनों पेपरों को पढ़ना होगा. एआईसीटीई ने अपने मॉडल कैरीकुलम में इसे लागू कर दिया है. एचबीटीयू ने एआईसीटीई की गाइड लाइन को फॉलो करना भी शुरू कर दिया है. जिसके तहत इसी एकेडमिक सेशन से बीटेक सेकेंड इयर के थर्ड सेमेस्टर में दोनों पेपर की क्लास शुरू करा दी गई है.

डिजिटल व‌र्ल्ड के लिए साइबर सिक्योरिटी जरूरी

अब डिजिटल व‌र्ल्ड की तरफ दुनिया जिस तेजी से मूव कर रही है. यह अपने आप में बड़़ी बात है. इंडिया भी डिजिटलाइजेशन के दौर से गुजर रहा है. यही वजह है कि अब टेक्निकल इंस्टीट्यूशन साइबर सिक्योरिटी को लेकर काफी सजग हो गए हैं. एआईसीटीई ने तो देश के सभी टेक्निकल इंस्टीट्यूशन को डायरेक्शन दे दिए हैं कि वह बीटेक सेकेंड इयर में साइबर सिक्योरिटी के साथ साथ भारतीय संविधान की क्लासेस भी शुरू कराए. सभी जगह इन दोनों टॉपिक को बतौर सब्जेक्ट इंट्रोड्यूस किया जा रहा है.

पहली बार बतौर सब्जेक्ट

एचबीटीयू के मीडिया इंचार्ज व रजिस्ट्रार प्रो मनोज कुमार शुक्ला ने बताया कि एआईसीटीई ने जो डायरेक्शन दिए हैं, उस पर अमल किया जा रहा है. यह पहला मौका है जब बीटेक सेकेंड इयर के छात्रों को थर्ड सेमेस्टर में इन दोनों टॉपिक को बतौर सब्जेक्ट पढ़ाया जा रहा है. भारतीय संविधान की जानकारी भी टेक्नोक्रेट्स को होनी चाहिए.