सोशल मीडिया पर वायरल नए वीडियो ने घुमाई शक की सुई

एसएसपी समेत सैकड़ों पुलिसकर्मियों ने घटनास्थल और आसपास की कॉम्बिंग

LUCKNOW : बुलंदशहर हिंसा और उसमें इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या के मामले में नया मोड़ आ गया है। अब तक इंस्पेक्टर की हत्या के लिये जिम्मेदार माने जा रहे जीतू फौजी से अब शक की सुई दूसरे युवक की ओर घूम गई है। दरअसल, पुलिस के हाथ लगे उपद्रव के नये वीडियो में इंस्पेक्टर के आसपास एक युवक असलहा लेकर घूमता दिखाई दे रहा है। यह वीडियो देखने के बाद पुलिस को विश्वास हो गया है कि इंस्पेक्टर सुबोध को गोली उसी युवक ने मारी है।

युवक की तलाश में कॉम्बिंग

वीडियो में दिख रहे युवक की तलाश में मंगलवार सुबह एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने पुलिस अधिकारियों व सैकड़ों पुलिसकर्मियों को साथ लेकर घटनास्थल और आसपास के खेतों में कांबिंग की। पुलिस मामले में कोतवाल की पिस्टल बरामद करने के साथ-साथ अन्य सबूत भी जुटाना चाहती थी। हालांकि पिस्टल बरामद करने में कामयाबी नहीं मिली। इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह को गोली मारने के मामले में ¨चगरावठी निवासी इस युवक का वीडियो सामने आने के बाद उसकी तलाश में तमाम जगहों पर पुलिस दबिश भी दे रही है। पर, उसका कोई सुराग नहीं लग सका है। अब तक की छानबीन में पता चला है कि उस युवक का नाम नामजद आरोपियों में नहीं है। वहीं, मामले के मुख्य आरोपी योगेश राज का भी कोई पता नहीं चल सका है। सूत्रों ने आरोपी युवक के बारे में पुलिस को अहम सुराग मिलने की बात कही है। उल्लेखनीय है कि अब तक पुलिस मामले में कुल नौ आरोपियों की अरेस्टिंग कर चुकी है।

नहीं लगाई रिमांड की अर्जी

फौजी जीतू के वकील संजय शर्मा ने बताया कि मंगलवार को जिला जेल में जाकर जीतू से जानकारी की गई। सुमित के परिजनों से भी जानकारी लेंगे। अब वह जीतू की जमानत अर्जी सेशन कोर्ट में डालेंगे। उन्होंने यह भी बताया कि मंगलवार को भी जीतू को रिमांड पर लेने के लिए पुलिस ने कोई अर्जी कोर्ट में नहीं दी।

सुमित के पिता ने दी आत्मदाह की दी चेतावनी

गोली लगने से मारे गए युवक सुमित के पिता अमरजीत सिंह ने कहा कि उनके बेटे का नाम न तो एफआईआर से काटा गया है और न ही उन्हें प्रशासन द्वारा दस लाख रुपये मिलने का आश्वासन पूरा हुआ है। इस वजह से वह आगामी 18 दिसंबर को लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास के सामने आत्मदाह करेंगे।

फरार आरोपियों की तलाश में मंगलवार को घटनास्थल व आसपास के इलाकों में कॉम्बिंग की गई है। इसके साथ ही आरोपियों के संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही है।

- प्रभाकर चौधरी, एसएसपी, बुलंदशहर