कानपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज राजधानी स्थित अपने सरकारी आवास पर बुलंदशहर की घटना के दिवंगत पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के परिवार के सदस्यों से भेंट की। इस दाैरान शहीद इंस्पेक्टर की पत्नी रजनी आैर उनके बेटों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अपना दर्द बयां किया। सीएम योगी ने ढांढस बंधाया। इसके साथ ही इंसपेक्टर सुबोध कुमार के परिजनों को आश्वासन दिया कि इस मामले में दोषियों को बिल्कुल नहीं बख्शा जाएगा। इस मामले की जांच हो रही है।  इस दौरान वहां पर मंत्री अतुल गर्ग और डीजीपी ओमप्रकाश सिंह भी माैजूद थे।

बुलंदशहर : दिवंगत इंस्पेक्टर के पत्नी-बेटों से सीएम योगी ने की मुलाकात,परिजनाें को दिया ये आश्वासन

यह था पूरा मामला
वहीं बुलंदशहर की इस घटना मेंसरकार की आेर से दिवंगत पुलिस इंस्पेक्टर की पत्नी को 40 लाख, माता-पिता को 10 लाख रुपये, पेंशन व उनके बेटे को सरकारी नौकरी मिलेगी। बता दें कि बीते 3 दिसंबर को यूपी के बुलंदशहर के स्याना थाने क्षेत्र के चिंगरावटी गांव के खेत में गोवंश मिलने के मामले में बेकाबू भीड़ ने पुलिस पर हमला बोल दिया। भीड़ ने चौकी अंदर जमकर तोडफ़ोड़ की। भीड़ को नियंत्रित करने की कोशिश करने वाले इस्पेक्टर सुबोध कुमार भी भीड़ में की गई फायरिंग से शहीद हो गए। इंस्पेक्टर सुबोध एटा के रहने वाले थे। हिंसा में एक छात्र सुमित की भी मौत मौत हो गई थी।

तो क्या अपनी पिस्टल से मारे गये इंस्पेक्टर सुबोध

बुलंदशहर गोहत्या मामला : शहीद इंस्पेक्टर के बेटे ने पूछा अब किसके पापा की बारी...सरकार करेगी 50 लाख रुपये की आर्थिक मदद

National News inextlive from India News Desk