धार्मिक एंगल से जोड़कर देखा जा रहा
नई दिल्ली (पीटीआई)। दिल्ली के बुराड़ी क्षेत्र के संत नगर इलाके में रविवार को एक ही परिवार के ग्यारह सदस्यों के शव मिले हैं। मृतकों में सात महिलाएं और चार पुरुष शामिल हैं।  इनमें 10 शव छत पर लगे लोहे के जाल से लटकते मिले थे और परिवार की सबसे बुजुर्ग महिला का शव जमीन पर पड़ा मिला था। मृतकों के हाथ-पैर बंधे होने के साथ  मुंह और आंखों पर पट्टी बंधी थी। मामले की जांच हत्या और आत्महत्या मानकर हो रही है। इस मामले में घर में कुछ चीजों की तलाशी के बाद इसे धार्मिक कोण से भी जोड़कर देखा जा रहा है।

शिक्षित और खुशहाल परिवार था

हालांकि धार्मिक एंगल को मृतकों रिश्तेदार सिरे से खारिज कर रहे हैं। इस संबंध में एक रिश्तेदार केतन नागपाल का कहना है कि बुजुर्ग मृतका रिश्ते में उनकी नानी लगती थी। केतन का कहना है कि उन्हें पुलिस की अंधविश्वास के चलते आत्महत्या करने वाली थ्योरी पर यकीन नहीं हो रहा है यह शिक्षित और खुशहाल परिवार था। किसी प्रकार की कोई आर्थिक तंगी नहीं थी।ऐसी कोई रुपयों के लेन-देन की बात भी नहीं थी। ऐसे में सवाल यह भी उठता है कि अगर उन्होंने आत्महत्या की भी तो चेहरे को ढंकने के साथ ही मुंह पर टेप कैसे लगाया।

किसी परेशानी का आभास नहीं हुआ
एक और रिश्तेदार का कहना है कि घटना से एक दिन पहले उन्होंने फोन पर बात की थी लेकिन परिवार में किसी परेशानी का आभास नहीं हुआ था। बेशक उनकी किसी से दुश्मनी नहीं थी लेकिन उन्हें शक है कि किसी ने उनकी हत्या की है। दूसरे भी रिश्तेदारों का भी यही कहना है कि ये पढ़े-लिखे होने धार्मिक थे लेकिन अंधविश्वासी नहीं थे। ऐसे में इसे धार्मिक एंगल से न जोड़ा जाए। वहीं एक पुलिस अधिकारी का कहना है कि घर से कुछ ऐसे हस्तलिखित नोट्स मिले हैं जिनमें यह संकेत मिल रहा है कि यह परिवार किसी देवता का पालन करता था।

ये हैं एक ही परिवार के 11 मृतक
वहीं मृतकों की पहचान नारायण देवी (77) के रूप में की गई है। इनका शव फर्श पर पड़ा मिला था। इसके अलावा उनकी बेटी प्रतिभा (57), उनके दो बेटे भावेश (50) और ललित भाटिया (45) लटके मिले थे। भावेश की पत्नी सविता (48) और उनके तीन बच्चे - मीनू (23), निधि (25) और ध्रुव (15),  ललित भाटिया की पत्नी टीना (42) और उनके 15 वर्षीय बेटे शिवम भी लटके थे। प्रतिभा की बेटी प्रियंका (33) जिसकी पिछले महीने इंगेजमेंट हुई थी और इस साल के अंत में शादी होनी थी। उसका शव भी लटका पाया गया था।

दिल्ली में एक घर में मिले 11 लोगों के शव, सुबह दुकान न खुलने पर पड़ोसियों को हुआ था शक

कैची से दोनों हाथ की नस काट दे दी जान

Crime News inextlive from Crime News Desk