jamshedpur@inext.co.in

JAMSHEDPUR: घाटशिला के बहरोगोड़ा थाना क्षेत्र के जामशोला एनएच-33 पर सीरीषतोला चौक के समीप बुधवार देर रात करीब दो बजे तीर्थ यात्रियों से भरी बस पलट गई. जिसमें तीन तीर्थ यात्रियों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 55 से भी ज्यादा लोग घायल हो गए. घटना के बाद शेर सुनकर स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना दी. सूचना पर पहुंचे थाना प्रभारी संजय सिंह ने जवानों की मदद से सभी यात्रियों को बाहर निकाला कर सीएचसी बहरोगोड़ा पहुंचाया गया. जहां से प्राथमिक इलाज के बाद 15 घायलों को एमजीएम रेफर कर दिया गया.

मच गई चीख-पुकार

हादसे के बाद तीर्थ यात्रियों की चीख-पुकार सुनकर आस-पास से सैकड़ों लोग व पुलिस पहुंच गई. इसके बाद घायलों को बहरागोड़ा स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) ले जाया गया. वहां पर प्राथमिक उपचार के बाद घायलों को बेहतर इलाज के लिए एमजीएम अस्पताल रेफर किया गया. यहां पर दो लोगों की मौत हुई. इसमें विश्वनाथ कुशवाहा की पत्नी चंद्रावती देवी (45) व जोखू राम के छह वर्षीय पुत्र मनदीप राय शामिल है. मनदीप जोखूराम का सबसे छोटा पुत्र था. इससे पूर्व 50 वर्षीय अमरावती देवी की मौत बहरागोड़ा में इलाज के क्रम में हो गई. ये सभी पूर्वी चंपारण के भवानीपुर गांव के रहने वाले है. वहीं छोटे लाल पटेल व राज हनन साह की स्थिति गंभीर होने की वजह से उसे टीएमएच रेफर कर दिया गया.

60 तीर्थ यात्री थे शामिल

बिहार राज्य के चंपारण जिला अंतर्गत भवानीपुर व कटगेनवा गांव से 60 तीर्थयात्री एक बस पर सवार होकर तीर्थ करने के लिए 16 अगस्त को निकले थे. ये लोग सबसे पहले सुल्तानगंज गये. वहां से जल लेकर देवघर पहुंचे. वहां पर पूजापाठ करने के बाद बासुकीनाथ व कोलकाता स्थित गंगा सागर गये. इसके बाद ओडिशा के पुरी में भगवान जगन्नाथ का दर्शन कर ये लोग बिहार स्थित राजगीर जा रहे थे. इसी दौरान जामशोला के समीप एनएच-33 पर बस पलट गई. करीब आधे घंटे के बाद स्थानीय लोग व पुलिस पहुंची. तबतक तीर्थयात्री बस के अंदर ही दबे हुए थे. एक-दो यात्री बस के खिड़की की टूटी हुई शीशे से किसी तरह बाहर निकल आए थे तो अन्य को स्थानीय लोगों की मदद से बाहर निकाला गया. घायल विनोद पटेल ने बताया कि वे लोग गहरी नींद में थे. बस पुरानी थी और तेज गति से चल रही थी. इसी बीच अचानक क्या हुआ, पता ही नहीं चला. हालांकि, विश्वनाथ कुशवाहा ने कहा कि बस की पत्ती टूट जाने के कारण अनियंत्रित होकर पलट गई. वहीं कुछ लोग खराब सड़क का हवाला दे रहे थे.

इनकी हुई मौत

1. चंद्रावती देवी (45), पति विश्वनाथ कुशवाहा.

2. मंदीप (6), पिता : जोखू राय

3. अमरावती देवी (50), पति बी. शमशेर.