- मार्केट से लेकर पेट्रोल पंप तक रहा बंद, गाड़ी वाले बिना पेट्रोल के रहे परेशान

- पटरियों पर आगजनी कर रेल परिचालन को किया बाधित

- पुलिस के लिए स्पेशल खुली रही दुकानें

patna@inext.co.in

PATNA : बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग को लेकर सत्तारूढ़ जनता दल यूनाइटेड की ओर से संडे को बिहार बंद का ट्रेन, बस से लेकर एयरपोर्ट तक असर देखा गया. सुबह से ही बंद सपोर्टर्स सड़कों और रेल पटरियों पर उतर गए और रेलवे गुमटी के निकट पटरियों पर आगजनी कर रेल ट्रैफिक को प्रभावित किया. सुबह म् बजे से दोपहर ख् बजे तक पटना जंक्शन स्टेशन से ट्रेनों का परिचालन बाधित रहा. बंद का असर रेलवे स्टेशन, मीठापुर बस स्टॉप और कपड़ा मार्केट में भी देखा गया. वहीं दूसरी ओर कुछ ऐसी दुकानें थीं जो स्पेशल पुलिस कर्मी के लिए खुली थीं. इसके अलावा पेट्रोल पंप बंद होने से कई लोगों को काफी प्रॉब्लम झेलनी पड़ी.

ट्रेन से उतरे मगर घूमते रहे

रेलवे ट्रैक पर विरोध प्रदर्शन से पैसेंजर्स को मुसीबत झेलनी पड़ी. पटना आने जाने वाले पैसेंजर्स कई-कई घंटे ट्रेन के रुकने से बस का रूट खोज रहे थे, लेकिन वहां भी उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ा. वहीं लोकल बसों की हालत और भी खराब थी. मीठापुर बस स्टॉप से बसों का परिचालन पूरी तरह बंद रहने से पैसेंजर्स को वहीं दिनभर बैठना पड़ा. मुजफ्फरपुर जाने वाले राकेश चौरसिया ने बताया कि सुबह से ही बैठे हैं. अब शाम के बाद ही बस मिल पाएगी. दूसरी ओर एयरपोर्ट पर प्लेन का आना-जाना तो रहा लेकिन अन्य दिनों की अपेक्षा पैसेंजर्स का रस कम था. बंद सपोर्टर्स एयरपोर्ट पर भी जाने की बात कर रहे थे.

दो बजे तक ट्रेन रही प्रभावित

दानापुर स्टेशन पर डाउन जनशताब्दी ढेड़ घंटे रुकी, राजेन्द्र नगर लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस भ्ख् मिनट तो डाउन अपर इंडिया दो घंटे लेट से पटना जंक्शन आई, इस दौरान पैसेंजर को खाने के लिए सामान तक नहीं मिल रहा था. वहीं आरा में विक्रमशिला ढाई घंटे तक रुकी रही. एक दर्जन से अधिक ट्रेन के पैसेंजर इधर-उधर भटकते रहे.

सुबह से पांच बजे शाम तक चलता रहा सत्याग्रह

जदयू की ओर से विशेष राज्य के दर्जा को लेकर सत्याग्रह सुबह से लेकर शाम पांच बजे तक चलता रहा. इस दौरान नीतीश कुमार ने बिहार के लोगों का आह्वान करते हुए कहा कि जब तक बिहार को विशेष राज्य का दर्जा नहीं मिलेगा, तब तक वो आंदोलन करते रहेंगे. उन्होंने कहा कि बिहार अब झुकने वाला नहीं है.

एक चौराहे भी पार नहीं कर पाए पटनाइट्स

बंद सपोर्टर्स ने इनकम टैक्स गोलंबर सहित कई चौराहों पर जमा होकर आगजनी की. चौराहों से पब्लिक का जहां आना-जाना बंद हुआ वहीं ट्रैफिक को पूरी तरह बाधित किया गया.

बिना पेट्रोल की चल रही थी गाड़ी

सिक्योरिटी को देखते हुए मार्केट के साथ ही पेट्रोल पंप भी बंद रहे. इस वजह से जहां पब्लिक को पेट्रोल नहीं मिल रहा था वहीं दूसरी ओर बिना पेट्रोल के वाहन सड़क पर खींचते पटनाइट्स ले जा रहे थे.

पुलिस के लिए खुली रही दुकान

एक ओर बिहार बंद को लेकर दुकानें बंद रहीं वहीं डाकबंगला चौराहे और गर्दनीबाग मोड़ पर खासकर पुलिसवालों के लिए दुकान खोली गई थी. पुलिस ऑफिसर्स के लिए खोली गई इन दुकानों से पुलिस के जवान और इनकी फैमली आसानी से सामान खरीद रही थी. इंटरेस्टिंग बात तो यह है कि जब इन दुकानों से आम पब्लिक सामान मांग रही थी तो उन्हें मना कर दिया जाता था.