- नाका के रानीगंज इलाके में रात 8.45 बजे हुई घटना

- नकाबपोश तीन बदमाशों ने व्यापारी के पैर में मारी गोली

- काउंटर से कैश लेकर भाग निकले बदमाश

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW : नाका की रानीगंज मार्केट में सरेशाम आइसक्रीम मैटेरियल सप्लायर की दुकान में घुसकर नकाबपोश तीन बदमाशों व्यापारी को गोली मार दी. बदमाश गोली मारने के बाद कैश काउंटर में रखा कैश लूटकर फरार हो गए. व्यापारी को इलाज के लिए ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया. सूचना पाकर एसपी पश्चिम समेत कई थानों का फोर्स मौके पर पहुंची.

ढक रखे थे चेहरे

राजेंद्र नगर निवासी मनोहर साधवानी की मनोहर प्रोविजन स्टोर नाम से रानीगंज मार्केट में दुकान है. वह आइसक्रीम मैटेरियल के थोक सप्लायर है. दुकान के सामने ही उनका गोदाम है. शनिवार रात 8.45 बजे वे गोदाम में थे जबकि उनके छोटे भाई ललित साधवानी (52) अपने चार कर्मचारियों के साथ दुकान पर. मनोहर का कहना है कि नकाबपोश तीन बदमाश बाइक से आए और दुकान के अंदर दाखिल होते ही उन्होंने ललित की दाहिने जांघ में गोली मारी. गोली चलते ही कर्मचारी छिप गए और बदमाश काउंटर पर रखा कैश ले उड़े.

दुकान में लगे कैमरे खराब

स्थानीय लोगों ने नाका पुलिस को सूचना दी और घायल ललित को इलाज के लिए ट्रामा सेंटर ले गए. सूचना पर एसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी, सीओ कैसरबाग अमित राय, सीओ चौक दुर्गा प्रसाद तिवारी और सीओ बाजार खाला अनिल यादव समेत कई थानों का फोर्स मौके पर पहुंचा. जांच में दुकान में पुलिस को चार सीसीटीवी कैमरे मिले, लेकिन कैश काउंटर की तरफ लगा कैमरा खराब था. पुलिस मामले को संदिग्ध मान रही है.

एक घंटा पहले हुई थी मीटिंग

दुकान मालिक मनोहर लूट की रकम लाखों में बता रहे है जबकि पुलिस का कहना है कि लूट की गई रकम चालीस हजार है. मनोहर का कहना है कि काउंटर में करीब दो से ढाई लाख रुपए थे. पुलिस का यह भी कहना है कि मार्केट में एक दुकान उन्होंने कुछ दिन पहले खरीदी थी. उस में कुछ लोग पहले से काबिज है. शनिवार शाम उसे खाली कराने को लेकर पंचायत भी हुई थी. पंचायत के एक घंटे बाद ही व्यापारी ललित पर हुए हमले को भी पुलिस जांच के दायरे में ले रही है.

बदमाशों ने व्यापारी के पैर में गोली मारी है. प्रथम दृष्टया मामला लूट का लग रहा है, लेकिन जांच में दौरान कई अहम बिंदु मिले हैं, जिन पर काम हो रहा है. व्यापारी के परिजन जो तहरीर देंगे उसी आधार पर एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई होगी.

विकास चंद्र त्रिपाठी, एसपी पश्चिम