अधिकार जोनल प्रमुखों को दिया गया
नई दिल्ली (आर्इएएनएस)। रेलवे ने भर्ती बोर्ड को दरकिनार कर दिया है। अब वह अपने यहां कुछ खास पदों पर अनुबंध पर भर्ती करने जा रहा है। रेलवे ने यह फैसला बोर्ड के माध्यम से होने वाली भर्तियों में लगने वाले समय को देखते हुए लिया है। खास बात तो यह है कि इसमें सेवानिवृत कर्मचारियों को वरीयता दी जाएगी। इस संबंध में रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, रेलवे के रिटायर कर्मचारी कुशलतापूर्वक भाप ईंजन, संकेत पद्धति वाले सिग्नल और भाप चालित उपकरणों की जानकारी होती है। वे इन्हें संभालने में कुशल होते हैं। इसलिए अनुबंध पर उनकी नियुक्ति करने की योजना बन रही है। रिटायर कर्मचारियों को ठेके पर रखने का अधिकार जोनल प्रमुखों को दिया गया है। वे ही कुशल सेवानिवृत्त कर्मचारियों की नियुक्ति करेंगे।

दोबारा नौकरी देने का फैसला ले चुका
इसके अलावा रेलवे के कार्यालयों में स्टेनोग्राफर/पीए की कमी के कारण बड़े स्तर पर कामकाज प्रभावित हो रहा है। एेसे में इन पदों पर भी अनुबंध पर कर्मचारी भर्ती किए जाएंगे।  रेलवे ने इन जगहों पर डाटा एंट्री ऑपरेटर या एग्जिक्यूटिव असिस्टेंट की भर्ती करने की अनुमति दी है।जोन के प्रमुख आवश्यक व्यक्तियों की संख्या तय कर भर्ती कर सकेंगे। अनुबंध के तहत भर्ती हुए कर्मचारियों का पारिश्रमिक सामान्य कार्य अनुसूची के समान होगा। रिटायर रेलवे कर्मचारियों की नियुक्ति के लिए अधिकतम उम्रसीमा 65 साल तय हुर्इ है। बता दें कि इससे पहले भी रेलवे अपने रिटायर कर्मचारियों को दोबारा नौकरी देने का फैसला ले चुका है। हाल ही में रेलवे ने मानवरहित फाटकों पर रिटायर रेलवे कर्मचारियों की नियुक्ति का एेलान किया था।

IRCTC की खास पहल, लाइव स्ट्रीमिंग से देख सकेंगे यात्रियों को कैसे आैर कितना मिलता है खाना

रेलवे की थाली हो गयी दो सौ ग्राम खाली

National News inextlive from India News Desk