- पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से टिहरी झील में कैबिनेट बैठक का किया जा रहा है आयोजन

- मंगलवार को सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने लिया बैठक की तैयारियों का जायजा

TEHRI: टिहरी झील में फ्लोटिंग मरीना (तैरते रेस्तरां) में आज कैबिनेट बैठक का आयोजन होगा. पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से टिहरी झील में कैबिनेट बैठक का आयोजन किया जा रहा है. मंगलवार को प्रशासनिक अधिकारियों ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की अगुआई में बैठक की तैयारियों को परखा.

झील को पर्यटन मानचित्र पर स्थान दिलाना मकसद

सूत्रों के अनुसार टिहरी झील में कैबिनेट की बैठक के पीछे सरकार का मकसद देश-दुनिया के लोगों को पर्यटन के लिए यहां आने का संदेश देना है. सरकार का मानना है कि टिहरी झील किसी परिचय की मोहताज नहीं है, लेकिन पर्यटन मानचित्र पर अभी इसे स्थान दिलाना बाकी है. इसके लिए खास प्रयास किए जा रहे हैं. उत्तराखंड के इतिहास में यह पहला मौका होगा, जब टिहरी झील में तैरते रेस्तरां में कैबिनेट के सदस्य राज्य के विकास के मुददों पर चर्चा करेंगे.

डीएम-एसएसपी ने लिया जायजा

फ्लो¨टग मरीना की क्षमता 80 लोगों की है, लेकिन सुरक्षा कारणों के चलते केवल 25 लोग ही इसमें सवार हो पाएंगे. टिहरी झील में बार्ज बोट और कुछ अन्य नावें भी फ्लोटिंग मरीना के साथ-साथ चलेंगी. डीएम सोनिका और एसएसपी विमला गुंज्याल ने मंगलवार को कोटी कॉलोनी में कैबिनेट स्थल का निरीक्षण किया. इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से तैयारियों को लेकर जानकारी हासिल की. इसके साथ ही सुरक्षा संबंधी दिशा-निर्देश भी दिए गए.