आगरा. स्मार्ट सिटी योजना के तहत ताज के आसपास के एरिया को ग्रीन कवर किया जाएगा. इसके अलावा पूरे रोड के किनारे डक्ट बनाई जाएगी. उसमें सभी केबल को अन्डरग्राउंड किया जाएगा. इसके अलावा ताज के 500 मीटर के दायरे में पाथ-वे बनाया जाएगा. इस एरिया में लगे पेड़ों को भी लाइटिंग से सजाया जाएगा. ताजगंज एरिया में अभी हेल्थमीटर लगाए जाने का भी काम शुरु किया जाएगा.

22 प्रोजेक्ट की रुपरेखा प्रस्तुति नहीं की तो होगी कार्रवाई

स्मार्ट सिटी के तहत होने वाले 22 प्रोजेक्ट को अगर निर्धारित समयावधि में पूरा नहीं किया गया तो सम्बन्धित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. आपको बता दें कि कमिश्नर के राम मोहन राव ने स्मार्ट सिटी की समीक्षा के दौरान पीएमसी समय पर कार्य नहीं करती है, तो उसकी धनराशि में से कटौती की जाएगी. उन्होंने कहा कि ठीक से कार्य नहीं करने वालों के वेतन से कटौती की जाएगी. आपको बता दें कि अभी तक स्मार्ट सिटी के तहत पहले फेज में 214 करोड़ रुपये मिले. इसके 107 करोड़ केन्द्र से और 107 राज्य सरकार ने मुहैया कराए गए. इसमें से 35 लाख स्टार्ट सिटी के कार्यालय पर खर्च हो गए. 2.39 करोड़ कंपनी के रजिस्ट्रेशन कराने में खर्च हो गए. तकरीबन एक लाख रुपये हर महीने सेलरी में खर्च हो जाते हैं.