-पब्लिक बोली कि नदी में कूदे, लेकिन परिजन पैर फिसलना रहे बता

-दिन भर गोताखोरों ने की तलाश लेकिन नहीं मिला शख्स

BAREILLY: वेडनसडे को किला नदी में कैंसर पीडि़त संदिग्ध हालत में गिर गया. लोगों ने पुलिस को सूचना दी कि कैंसर पीडि़त ने नदी में छलांग लगा दी लेकिन परिजन पैर फिसलना बता रहे हैं. शख्स की तलाशी के लिए 5 गोताखोरों को लगाया गया है. दिनभर नदी में तलाश करने के बाद भी उसका पता नहीं चल सका है. थर्सडे को फिर से उसकी तलाश की जाएगी.

बचने की नहीं थी उम्मीद

किला छावनी में रहने वाले मिसर यार खां उर्फ मुल्लाजी (40) मांझा कारीगर हैं. उनकी पत्‍‌नी की 7 वर्ष पहले मौत हो चुकी है और बेटा ननिहाल में रहता है. वह छोटे भाई हामिद के साथ रहता है. वह कैंसर की बीमारी से पीडि़त है, 20 दिन पहले ही इसका पता चला था. कुछ दिन पहले ही हॉस्पिटल से छुट्टी लेकर आया था. डॉक्टरों ने उसके बचने की कम ही उम्मीद बताई थी. हामिद ने बताया कि वेडनसडे सुबह करीब सात बजे वह दूध लेने गए थे. करीब 8 बजे जब लौटकर आए तो पड़ोस में रह रही भाई की लड़की दौड़कर आई और मिसर यार के नदी में बहने की बात बताई. इतना सुनते ही घर व आस पड़ोस के लोग नदी की तरफ दौड़े तो देखा तो मिसरयार खां बहते हुए जा रहे थे. कुछ लोग बचाने के लिए नदी में कूदे लेकिन वह नदी में डूब गया.