GORAKHPUR: बीआरडी मेडिकल कॉलेज में लिक्विड ऑक्सीजन स्टोरेज की क्षमता जल्द दोगुनी हो जाएगी. आईनॉक्स कंपनी मेडिकल कॉलेज में लिक्विड ऑक्सीजन का एक और टैंक लगाने जा रही है. कंपनी ने इसके बारे में बीआरडी प्रशासन को लिखित तौर पर अवगत करा दी गई है. पिछले साल लिक्विड ऑक्सीजन की कमी के चलते बीआरडी में बच्चों की मौत का मामला सामने आया था. तब इससे बीआरडी से लेकर प्रदेश सरकार तक की बहुत किरकिरी हुई थी. इसके बाद से शासन बीआरडी की व्यवस्था बेहतर करने में जुटा हुआ है. इसी कड़ी में आईनॉक्स कंपनी से शासन ने संपर्क साधा. अब आईनॉक्स कंपनी यहां एक और ऑक्सीजन टैंक लगाने जा रही है.

फिलहाल यहां लिक्विड ऑक्सीजन के लिए एक टैंक लगा हुआ है. एक बार भरने के बाद यह टैंक सात दिनों तक विभिन्न वार्डो में लिक्विड ऑक्सीजन की सप्लाई करता है. अब जब दो टैंक हो जाएंगे तब एक बार इनके भरकर 14 दिन तक वाडरें में ऑक्सीजन की सप्लाई हो सकेगी. मेडिकल कॉलेज सूत्रों के मुताबिक, आईनॉक्स की टीम पिछले दिनों बीआरडी का दौरा कर नया टैंक लगाने के लिए जगह देखी थी. उसकी दो माह में नया टैंक लगाने की योजना है. हालांकि, मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने इसकी पुष्टि नहीं की है. प्रिंसिपल डॉ. गणेश कुमार ने कहा कि अगर जरूरत महसूस होगी तो नया टैंक लगवाया जाएगा.