career@inext.co.in
KANPUR :
हेरिटेज बिल्डिंग्स और आर्ट वक्र्स को उनके ओरिजिनल फॉर्म में मेंटेन रखना एक बड़ा चैलेंज होता है इसीलिए यह काम ट्रेंड प्रोफेशनल्स ही करते हैं। अगर आपको भी हिस्ट्री में इंटरेस्ट है और आप एंटीक्स, हेरिटेज बिल्डिंग्स वगैरह को रेस्टोर करना चाहते हैं, तो आर्ट रेस्टोरेशन आपके लिए एक परफेक्ट फील्ड है...

कौन से कोर्सेज हैं जरूरी?
इस फील्ड में करियर बनाने के लिए ग्रेजुएशन में आर्कियोलॉजी, ऐन्शियंट हिस्ट्री, मिडीवल हिस्ट्री, हिस्ट्री ऑफ वल्र्ड आर्ट जैसे सब्जेक्ट्स होने चाहिए। इसके बाद आप आर्ट रेस्टोरेशन का कोर्स कर सकते हैं। इसमें स्पेशलाइजेशन की बहुत इंपॉर्टेंस है। उदाहरण के तौर पर आप वाज, स्कल्पचर, फोटोग्राफी, पेपर, टेक्सटाइल, हेरिटेज बिल्डिंग्स में स्पेशलाइजेशन कर सकते हैं।

क्या है आर्ट रेस्टोरेशन?

आर्ट रेस्टोरेशन एक ऐसी प्रॉसेस है, जिसके जरिए ट्रेन्ड प्रोफेशनल्स हेरिटेज बिल्डिंग्स, आर्ट वक्र्स और स्कल्पचर्स को क्लीन, रिपेयर और रीस्टोर करके उन्हें ओरिजिनिल कंडीशन में लाने का प्रयास करते हैं। यह काम काफी रिसर्च करने के बाद शुरू किया जाता है। इस दौरान यह भी ख्याल रखा जाता है कि कैसे इन्हें आम लोगों के लिए अपीलिंग बनाया जाए।

कैसी है वर्क प्रोफाइल?
एक आर्ट रेस्टोरर सबसे पहले एंटीक पीस को क्लीन करते हैं। उसके बाद उसे एग्जामिन किया जाता है। इस दौरान यह पता लगाने की कोशिश की जाती है कि उसमें क्या डैमेज हुआ है और उसे किस तरह पूरा किया जा सकता है। फिर उसकी हिस्ट्री पर रिसर्च की जाती है ताकि यह पता लगाया जा सके कि वह जिस एरा से संबंधित है, उस दौर में किस तरह के रिसोर्सेज का इस्तेमाल किया जाता था। उसके बाद रिपेयर और रिस्टोर करने का काम शुरू किया जाता है।

कैसी होनी चाहिए स्किल्स?
एक आर्ट रेस्टोरर में पेशेंस बहुत जरूरी है। चूंकि इस काम को करने के लिए काफी रिसर्च करनी पड ̧ती है, इसलिए आपमें लंबे समय तक एक ही प्रोजेक्ट पर काम करने का स्टैमिना होना चाहिए। इसके अलावा आपके पास आर्ट फॉम्र्स की अच्छी नॉलेज भी होनी चाहिए।

क्या हैं फ्यूचर प्रॉस्पेक्ट्स?

आर्ट रेस्टोरर्स के लिए सबसे प्राइम एंप्लॉयर नेशनल म्यूजियम सेंटर्स होते हैं। आप इनके रेस्टोरेशन डिपार्टमेंट में काम कर सकते हैं। आप द इंडियन नेशनल ट्रस्ट फॉर आर्ट एंड कल्चर हेरिटेज या प्राइवेट आर्ट फम्र्स में भी काम कर सकते हैं।

कैसा है रिम्यूनरेशन
?
एक आर्ट रेस्टोरर की जॉब काफी ल्यूकरेटिव होती है। आपको गवर्नमेंट सेक्टर में अच्छे पे पैकेज पर अपॉइंट किया जाता है। प्राइवेट प्रैक्टिस में आपकी स्किल्स पर पेमेंट निर्भर है।

इंस्टीट्यूट्स
- नेशनल म्यूजियम सेंटर्स, लखनड्ड, दिल्ली, कोलकाता
- नेशनल म्यूजियम इंस्टीट्यूट ऑफ हिस्ट्री ऑफ आर्ट
- यूनिवर्सिटी ऑफ मैसुरु
- यूनिवर्सिटी ऑफ इलाहाबाद
- कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी, हरियाणा

डीडीयूजीयू में राजर्षि टंडन यूनिवर्सिटी से करें योगा में डिप्लोमा


कोल्हान यूनिवर्सिटी के चार कॉलेजों में होगी पीजी की पढ़ाई

Business News inextlive from Business News Desk