- एसएसपी ने कोतवाल से मांगी रिपोर्ट, किया जवाब तलब

DEHRADUN: शहर कोतवाली इलाके में स्थित कांवली रोड पर मंगलवार देर रात खुद को गोली मारने वाले हिस्ट्रीशीटर पर पुलिस ने वारदात से करीब म् घंटे पहले मुकदमा दर्ज किया था. ये बात तब पता चली जब एसएसपी ने मामले की जानकारी के लिए कोतवाल को फोन किया. डेढ़ महीने पुरानी तहरीर के आधार पर अब मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठने लगे हैं. हिस्ट्रीशीटर के मौत का ये भी बड़ा करण हो सकता है, इस बात को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है. बहरहाल एसएसपी ने मुकदमे की पूरी डिटेल तलब की है.

दरअसल लक्ष्मण चौक निवासी हिस्ट्रीशीटर अमरजीत सोही ने मंगलवार रात तमंचे से गोली मार कर सुसाइड कर लिया था. पुलिस के अनुसार सोही ने नशे में खुद को सिर में गोली मारी थी. लेकिन वारदात के समय कोई भी व्यक्ति वहां मौजूद नहीं था. इससे हिस्ट्रीशीटर को गोली कैसे लगी, सवाल खड़े हो गए हैं. बात तब गम्भीर हो जाती है जब करीब डेढ़ महीने पुराने मामले में कोतवाली पुलिस ने मृतक के बहन मोना बसंत की तहरीर पर घटना से छह घंटे पहले मुकदमा दर्ज किया है. इस मामले में मृतक की बहन मोना ने आरोप लगाया कि अमरजीत ने उसके साथ मारपीट और अपनी मां रीता की पैर की हड्डी तोड़ी है. जबकि दो महीने पहले वह एसएसपी से इस मामले में मिली थी. इस पर एसएसपी ने उसी दौरान मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए थे.

एसएसपी ने मांगी रिपोर्ट

बुधवार को मामले की जानकारी मिलने के बाद एसएसपी डा. सदानंद दाते ने शहर कोतवाल से इस मुकदमे को लेकर जवाब मांगा है.