एसबीआई ग्राहक पीओएस मशीन से निकालें रुपये
नई दिल्‍ली/मुंबई (प्रेट्र)।
भारतीय स्‍टेट बैंक (एसबीआई) ने कहा कि देश के विभिन्‍न राज्‍यों के एटीएम में कैश की कमी को देखते हुए उसके ग्राहक रिटेल आउटलेट पर जाकर पीओएस मशीन से 2000 रुपये तक निकाल सकेंगे। इसके लिए उनसे कोई अतिरिक्‍त शुल्‍क नहीं लिया जाएगा। आरबीआई की गाइडलाइन के मुताबिक रिटेल आउटलेट्स पर जाकर पीओएस मशीन से निकासी की लिमिट तय है। टीयर 1 और टीयर 2 शहरों के लिए रोजाना प्रति कार्ड 1000 रुपये और छोटे शहरों में 2000 रुपये प्रति कार्ड प्रति दिन निकाल सकेंगे।

पेटीएम से ट्रांजेक्‍शन 30 प्रतिशत बढ़ा
पेटीएम ब्रांड की स्‍वामित्‍व कंपनी वन97 कम्‍युनिकेशन ने कहा कि पिछले महीनों की तुलना में देश के कई शहरों में पेटीएम से होने वाले ट्रांजेक्‍शन में 30 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई। इनमें से अधिकतर शहर आंध्र प्रदेश, बिहार, गुजरात, असम, कर्नाटक, महाराष्‍ट्र, राजस्‍थान, उत्‍तर प्रदेश, मध्‍य प्रदेश और तेलंगाना से थे। पेटीएम के सीओओ किरण वसीरेड्डी ने कहा कि कैस की कमी के कारण जहां एटीएम में रुपये खत्‍म हो गए थे, ग्राहकों ने पेटीएम सर्विस का इस्‍तेमाल किया और ट्रांजेक्‍शन किए। इनमें मनी ट्रांसफर से लेकर क्‍यूआर आधारित पेमेंट्स शामिल हैं।

सरकार का दावा 80 फीसदी एटीएम चालू
सरकार का दावा है कि देश भर में एटीएम में तेजी से नोट भरे जा रहे हैं। 80 फीसदी एटीम को चालू कर दिया गया है और बुधवार को 2.2 लाख एटीएम सामान्‍य तौर पर काम कर रहे थे। अचानक मांग बढ़ने से देश के कई राज्‍यों के एटीएम में नोट खत्‍म हो गए थे। इन राज्‍यों में उत्‍तर प्रदेश, मध्‍य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक शामिल थे। कर्नाटक में विधानसभा चुनाव होने हैं। हालांकि केंद्र सरकार और आरबीआई ने जनता को आश्‍वस्‍त किया था कि देश में नोटों की कोई कमी नहीं है। यह समस्‍या अस्‍थाई है और जल्‍दी ही इसपर काबू पा लिया जाएगा।

एसबीआई की रिसर्च में कैश क्रंच का खुलासा
भारत सरकार और आरबीआई के दावों के विपरीत एसबीआई की एक रिसर्च में खुलासा हुआ है कि सिस्‍टम में कैश की भारी कमी है। रिसर्च के मुताबिक देश में 70 हजार करोड़ रुपये की कमी है। यह आंकड़ा एक महीने में देश के एटीएम से होने वाले कुल ट्रांजेक्‍शन का एक तिहाई है। एक रिपोर्ट देश में कैश क्रंच की खबरों के एक दिन बाद ही सामने आई है।

Business News inextlive from Business News Desk