- नगर निगम ने कैटल कालोनी के लिए किया जगह का चयन

- प्रस्ताव तैयार कर शासन को भेजी जाएगी रिपोर्ट

Meerut : हाईकोर्ट ने नगर निगम को सभी डेयरियों को तीन माह में शहर से बाहर करने के आदेश दिए थे. जिस पर अमल करते हुए नगर निगम ने कैटल कालोनी के लिए जगह चयन कर लिया है. काशी गांव में कैटल कॉलोनी बनाने की योजना बनाई है. नगर निगम इसके लिए प्रस्ताव तैयार कर रहा है. प्रस्ताव तैयार करने के बाद शासन को रिपोर्ट भेजी जाएगी.

पहले भी आए हैं निर्देश

इससे पहले भी हाईकोर्ट ने डेयरियों को बाहर भेजने के लिए आदेश दिए थे. लेकिन आदेश केवल फाइलों तक सिमटकर रह गए. ना तो नगर निगम ने डेयरी बाहर भेजने के लिए कुछ किया और न ही एमडीए ने कॉलोनी बनाने के लिए निगम को जमीन दी. अब दोबारा से इम्तियाज की शिकायत पर लखनऊ बेंच ने आदेश जारी किया है. जिस पर निगम ने इस बार कार्रवाई करते हुए जमीन चयनित की गई है.

एक बार हो चुकी है बैठक

महापौर ने डेयरियों को शहर से बाहर ले जाने के लिए दो माह पहले डेयरी संचालकों के साथ बैठक की थी. इस पर डेयरी संचालकों ने दूध बिकवाने की जिम्मेदारी नगर निगम पर डाल दी थी. इस पर मेयर ने पब्लिक से सहयोग करने की बात कही थी.

पशु पकड़ने की योजना नहीं

नगर निगम ने पशुओं को पकड़ने की कोई योजना तैयार नहीं की है. नगर निगम का कहना है कि निगम जब भी कोई अभियान चलाता है. पशुओं के लिए काम करने वाली संस्था इसका विरोध करती हैं. जिसके कारण अभियान को बीच में ही बंद करना पड़ता है. इसी कारण पशुओं को पकड़ने की योजना नहीं बनाई है.

डेयरी बाहर ले जाने से कोई दिक्कत नहीं है. लेकिन नगर निगम को कॉलोनी को तैयार करके देना होगा. यदि केवल जमीन देंगे तो किसी भी कीमत पर डेयरियों को बाहर नहीं ले जाया जाएगा. बाहर ले जाने से हमारे व्यापार पर खासा असर भी पड़ेगा.

महेंद्र उपाध्याय, अध्यक्ष डेयरी संचालक एसोसिएशन

कैटल कॉलोनी के लिए काशी गांव में जमीन चिंहित कर ली गई है. नगर निगम की वह जमीन है. प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए हैं. प्रस्ताव तैयार कर शासन को रिपोर्ट भेजी जाएगी.

डॉ. आरएस चौहान, नगर स्वास्थ्य अधिकारी, नगर निगम