क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : सीबीआई ने सेंट्रल यूनिवर्सिटी झारखंड (सीयूजे) के एक्स वाइस चांसलर डीटी खटिंग समेत चार के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है. सीबीआई के विशेष न्यायधीश बीके तिवारी की अदालत ने चार्जशीट पर संज्ञान लेते हुए चारों को 13 जनवरी को कोर्ट में हाजिर होने के लिए समन जारी किया है. इनके खिलाफ 21.77 लाख रुपए का आर्थिक नुकसान यूनिवर्सिटी को पहुंचाने का आरोप है. अन्य आरोपियों में सीयूजे के ओएसडी (प्रोजेक्ट) नरेंद्र पाल गर्ग, चौहान बिल्डिंग कांके रोड के को-ऑनर प्रभात कुमार और उपेंद्र नाथ सिंह हैं. सीबीआइ ने पिछले साल 15 दिसंबर को इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी.

क्या है चार्जशीट में

सीबीआइ के चार्जशीट के मुताबिक, कांके रोड में सीयूजे का सिटी सेंटर खोलने की कोई आवश्यकता नहीं थी. बिल्डिंग भी किराये पर लेने की जरूरत नहीं थी. अगर सिटी सेंटर खोलने की जरूरत थी तो केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय से इसकी अनुमति लेनी चाहिए थी. लेकिन, बिना प्रक्त्रिया पूरा किए कांके रोड के चौहान भवन में सिटी सेंटर खोला गया, जबकि राज्य सरकार ने ब्रांबे स्थित ट्रेनिंग इंस्टीच्यूट के भवन में सीयूजे के लिए जगह उपलब्ध करा दिया था.

भवन निर्माण व एसी खरीद में भी हैं आरोपी

सीयूजे के एक्स वाइस चांसलर डीटी खटिंग के खिलाफ एक अन्य मामला भी दर्ज है. इसमें सीयूजे के भवन निर्माण व एसी खरीद घोटाले में अनियमितता बरतने का आरोप है. मामले में सुनील रस्तोगी, नरेंद्र पाल गर्ग व अनिल दीक्षित नामक भी आरोपी हैं. इस मामले में सीबीआइ पूर्व में न्यायालय में चार्जशीट दाखिल कर चुकी है. सीयूजे के लिए भवन निर्माण की निविदा वर्ष 2009-10 में जारी की गई थी. इन अधिकारियों ने मिलकर सीयूजे द्वारा जारी प्लान के अनुरूप भवन का निर्माण नहीं कराया था.