lucknow@inext.co.in
Lucknow : यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण में हुए 126 करोड़ रुपये के घोटाले की जांच सीबीआई करेगी। प्रदेश के गृह सचिव भगवान स्वरूप ने बताया कि प्रदेश सरकार ने गुरुवार को केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय को अपनी सिफारिश भेज दी।

पहले खरीदी फिर बेची जमीनें
गौरतलब है कि मथुरा मे यीडा के तत्कालीन सीईओ पीसी गुप्ता व अन्य अधिकारियों ने अपने रिश्तेदारों को फायदा पहुंचाने के लिए 126 करोड़ रुपये के घोटाले को अंजाम दिया था। आरोपियों ने 19 कंपनियां बनाकर पहले जमीनें खरीदी और बाद में उसे वापस प्राधिकरण को बेचकर करोड़ों रुपये का मुआवजा ले लिया। इसकी जानकारी मिलने पर प्राधिकरण के चेयरमैन प्रभात कुमार ने इसकी जांच कराई तो आरोप सही पाए गये। साथ ही यह भी पता चला कि इस तरह का फर्जीवाड़ा पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई अन्य जिलों में भी किया गया है। इसके बाद नोएडा पुलिस में पीसी गुप्ता समेत 21 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। जिसके बाद पुलिस ने पीसी गुप्ता को बीते दिनों मध्य प्रदेश के दतिया जिले से अरेस्ट कर लिया था।

एक्सप्रेस वे पर दुर्घटना में एम्स के तीन डॉक्टरों की मौत, चार घायल

बर्थडे मनाने आगरा जा रहे AIIMS के 3 डॉक्टरों की रोड एक्‍सीडेंट में दर्दनाक मौत, 4 गंभीर रूप से घायल

National News inextlive from India News Desk