- पीएम ने जताई है पेरेंट्स, स्टूडेंट और टीचर्स से बात करने की इच्छा

- स्कूलों को दी एप के बारे में जानकारी देने की जिम्मेदारी

Meerut : सीबीएसई ने सभी स्कूलों को जारी निर्देश में नरेंद्र मोदी एप डाउनलोड करने के लिए कहा है. सीबीएसई ने इसके लिए स्कूलों को सर्कुलर जारी कर स्टूडेंट्स, पेरेंट्स एंड टीचर्स को इसकी जानकारी देने के लिए कहा है. सीबीएसई के अनुसार पीएम ने इस बार इच्छा जताई है कि वे परीक्षा दे रहे स्टूडेंट्स के विचार जानेंगे. वहीं एजुकेशन में आनी वाली कमियों को लेकर टीचर्स एंड पेरेंट्स के एक्सपीरियंस भी पीएम जानना चाहते हैं.

परीक्षा के बाद करेंगे संवाद

परीक्षा देने केबाद स्टूडेंट सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपने मन की बात साझा कर सकते हैं. 10वीं और 12वीं की परीक्षा दे रहे सीबीएसई स्टूडेंट्स परीक्षा देने के बाद सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपने मन की बात साझा कर सकते हैं. यह सब कुछ होगा नरेंद्र मोदी एप के सहारे. इस एप के इस्तेमाल से बच्चे अपनी परीक्षा संबंधित तमाम रणनीतियों के साथ-साथ अपने अनुभवों को साझा कर पाएंगे. एप 18002090920 नंबर पर मिस्ड कॉल कर डाउनलोड किया जा सकता है.

इसलिए ली छात्रों की सुध

बोर्ड की ओर से जारी निर्देश में कहा गया है कि प्रधानमंत्री ने इस बार इच्छा जताई है कि वे परीक्षा दे रहे स्टूडेंट्स के विचार जानेंगे. इसमें कहा गया है कि अपनी तैयारियों व बेहतर रणनीतियों के दम पर जिन छात्रों ने अपना परचम लहराया है, उसे जानेंगे कि आखिर यहां तक पहुंचने के लिए उन्होंने कैसे अपनी तैयारियों को आगे बढ़ाया. कैसे तनाव भरे परीक्षा के दिनों को उन्होंने गुजारा, इस दौरान परिवार में क्या माहौल बना, शिक्षकों ने अपनी भूमिका कैसे अदा की. तमाम चुनौतियों के बीच खुद छात्र ने क्या प्रयास किए, सीनियर छात्रों ने उनकी किस तरह मदद की.

मिलेगा सफलता का सूत्र

परीक्षा की तैयारियों पर स्टूडेंट्स से मिलनेवाली प्रतिक्रिया को आधार बनाकर इसे देशभर के छात्रों तक पहुंचाया जाएगा. जारी निर्देश में प्रधानमंत्री के हवाले से कहा गया है कि देशभर के बच्चे तमाम चीजों को टीवी पर देखेंगे, पढ़ेंगे और तनावमुक्त होकर परीक्षाओं की तैयारी करेंगे. इससे सफलता पाने का सूत्र मिलेगा.

पेरेंट्स व टीचर्स भी करेंगें बात

बोर्ड ने इस मुद्दे पर अभिभावकों से भी विचार व्यक्त करने का आग्रह किया है. वह अपने बच्चों को एग्जाम टाइम में कैसे तनाव से दूर रखते हैं. टीचर्स अपने बच्चों को किस तरह से तनाव से दूर रखने के लिए हैंडल करते हैं. अभिभावकों को एजुकेशन सिस्टम में क्या कमियां लगती हैं और उनके लिए क्या सुधार होना चाहिए. टीचर्स एजुकेशन में क्या नया चाहते हैं.

सर्कुलर में खुद उलझा सीबीएसई

सीबीएसई ने इससे पहले कई बार स्कूलों में स्टूडेंट के मोबाइल लाने पर बैन लगाने का सर्कुलर जारी किया है. वैसे भी स्कूलों में स्टूडेंट का मोबाइल लाना मना है. अब सीबीएसई के सर्कुलर में स्टूडेंट को भी एप डाउनलोड करवाने की बात कही गई है. सोचने की बात है कि जब बच्चा स्कूल में मोबाइल ही नहीं लाएगा तो उसे कैसे एप डाउनलोड करवाया जाएगा.

स्टूडेंट्स को इस एप के बारे में नॉलेज दे दी जाएगी. स्टूडेंट्स अपने घर पर जाकर इस एप को डाउनलोड कर सकेंगे. पेरेंट्स व टीचर्स को भी इस एप के बारे में बताया जाएगा.

राहुल केसरवानी, सहोदय सचिव