-सीबीएसई 12वीं में द आर्यन इंटरनेशनल स्कूल की स्टूडेंट प्रयागराज रीजन में तीसरे व डिस्ट्रिक्ट में टॉप पर

-सनबीम वरुणा के प्रियांकुश को रीजन में चौथा व डिस्ट्रिक्ट में दूसरा स्थान मिला

-बिना सूचना के रिजल्ट डिक्लेयर होने से स्टूडेंट्स से स्कूल तक देर तक लगे रहे पुष्टि में

VARANASI

सेंट्रल बोर्ड आफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) 12वीं के एग्जाम में इस साल भी ग‌र्ल्स का दबदबा रहा है। गुरुवार को घोषित रिजल्ट में द आर्यन इंटरनेशनल स्कूल के कामर्स ग्रुप की स्टूडेंट पलक मिश्रा 99.2 परसेंट (496/500) मा‌र्क्स हासिल कर प्रयागराज रीजन में तीसरा और बनारस में अव्वल स्थान हासिल किया। वहीं सनबीम स्कूल, वरुणा के मानविकी वर्ग के प्रियांकुश अधिकारी 99 परसेंट (495/500) मा‌र्क्स प्राप्त कर रीजन में चौथे व डिस्ट्रिक्ट में दूसरे स्थान पर हैं। वहीं डिस्ट्रिक्ट में तीसरे स्थान पर संयुक्त रूप से तीन ग‌र्ल्स हैं। सनबीम स्कूल, सनसिटी की राधिका बाजाज, द आर्यन इंटर नेशनल स्कूल की जागृति अठवानी व डीपीएस, वाराणसी की सोनिया जौहरी को संयुक्त रूप से 98.4 परसेंट (492/500) मा‌र्क्स प्राप्त हुए हैं।

अचानक डिक्लेयर हुआ रिजल्ट

सीबीएसई ने 12वीं का एग्जाम रिजल्ट गुरुवार को एक बजे बिना किसी पूर्व सूचना के जारी कर दिया। पहली बार ऐसा हुआ है कि रिजल्ट जारी होने की भनक परीक्षार्थियों को ही नहीं स्कूल्स व टीचर्स को भी नहीं लगी। ज्यादातर परीक्षार्थियों को विश्वास ही नहीं हुआ कि रिजल्ट जारी हो गया है। वो एक-दूसरे को फोन कर सच्चाई का पता लगाते रहे। टीचर्स व स्कूल्स का भी फोन घनघनाने लगा। जैसे उन्हें पता चला कि सीबीएसई ने बारहवीं का रिजल्ट डिक्लेयर कर दिया है। स्कूल्स में गहमागहमी बढ़ गई। प्रिंसिपल व टीचर्स के साथ परीक्षार्थी भी जुटने लगे।

भेजा स्क्रीन शॉट

स्टूडेंट्स ही नहीं उनके पैरेंट्स भी स्मार्ट फोन पर रिजल्ट देखने में जुट गए। रिजल्ट देखते ही परीक्षार्थी खुशी से उछल पड़े। कुछ ने मोबाइल व लैपटॉप का स्क्रीन शॉट लेकर एक-दूसरे को भेजना भी स्टार्ट कर दिया। यही नहीं एक-दूसरे को बधाई देने का तांता भी देर शाम तक जारी रहा। रिजल्ट देखने के बाद छात्रों ने सबसे पहले टीचर्स व पैरेंट्स से आशीर्वाद लिया। दोस्तों के बीच मिठाईयां बांटी व खुशियां मनायी।

स्कूल्स से कोचिंग तक इंतजाम

स्टूडेंट्स आसानी से रिजल्ट देख सकें इसके लिए कुछ स्कूल्स ने परीक्षार्थियों को विशेष बंदोबस्त किए थे। इसमें कई कोचिंग संस्थाएं भी शामिल रहीं। उधर अधिकतर स्कूल्स ने सेंट परसेंट रिजल्ट का दावा किया। कई ने अपने स्टूडेंट्स को टॉपर लिस्ट में भी शामिल होने का दावा किया।

एक महीने में आया रिजल्ट

सीबीएसई बोर्ड का एग्जाम 15 फरवरी से स्टार्ट हुआ था। 12वीं के वोकेशनल कोर्सेस का एग्जाम 15 से 30 फरवरी तक हुआ था। वहीं 10वीं के वोकेशनल कोर्सेस का एग्जाम 21 फरवरी से स्टार्ट हुआ था। जबकि 12वीं के मेन सब्जेक्ट का एग्जाम दो मार्च और 10वीं की सात मार्च से स्टार्ट हुआ था। बारहवीं का एग्जाम चार अप्रैल और 10वीं का एग्जाम 29 मार्च को समाप्त हुआ था। इस प्रकार एग्जाम के 26 दिनों के अंदर सीबीएसई बारहवीं का रिजल्ट डिक्लेयर हो गया है।

मंदिरों में किया दर्शन पूजन

एग्जाम में उत्तीर्ण स्टूडेंट्स ने देरशाम तक मंदिरों में दर्शन-पूजन किया। जिसके चलते प्रमुख मंदिरों में स्टूडेंट्स व उनके पैरेंट्स की भीड़ लगी रही। दुर्गाकुंड स्थित दुर्गा मंदिर, संकट मोचन, काशी विश्वनाथ, अर्दली बाजार स्थित महावीर मंदिर सहित अन्य कालोनी-मोहल्ले के मंदिरों में परीक्षार्थियों ने जाकर मत्था टेका।

प्वाइंट टू बी नोटेड

-135

स्कूल्स हैं सीबीएसई के

-29

बनाए गए थे एग्जाम सेंटर्स

17761

स्टूडेंट्स ने दिया था एग्जाम