यह भी जानें

-500 रुपए प्रति कॉपी वेरीफिकेशन के लिए देने होंगे

-100 रुपए प्रति क्वेश्चन रीचेकिंग फीस निर्धारित की गई है

-700 रुपए 12वीं की आंसर शीट की ले सकेंगे फोटो कॉपी

-500 रुपए 10वीं की आंसर शीट की फोटो कॉपी लेने की फीस

- कम अंक आने की शिकायतों पर सीबीएसई ने लिया निर्णय, सरकुलर किया जारी

- वैरीफिकेशन, कॉपियों की फोटो कॉपी व रीचेकिंग के लिए छात्र कर सकेंगे आवेदन

बरेली : सीबीएसई 10वीं व 12वीं के एग्जाम का रिजल्ट आने के बाद कई स्टूडेंट्स कम नंबर आने पर बहाने बना देते थे कि मैंने तो अच्छा किया था, पता नहीं कैसे नंबर कम आ गए। स्टूडेंट्स अपनी कमियां छिपाने के लिए सीबीएसई बोर्ड को ही दोषी बना देते थे। स्टूडेंट्स की इस शिकायत का समाधान करने के लिए सीबीएसई बोर्ड ने कॉपी वैरीफिकेशन और रीचेकिंग के साथ ही आंसर शीट की फोटो कॉपी देने की भी व्यवस्था की है। इसके लिए स्टूडेंट को बोर्ड से निर्धारित फीस का भुगतान करना होगा। सीबीएसई परीक्षा नियंत्रक डॉ। संयम भारद्वाज ने इसके लिए सरकुलर भी जारी कर दिया है।

ऑनलाइन होगा आवेदन

सर्कुलर के अनुसार, बोर्ड का परीक्षा परिणाम जारी होने के अगले दिन कॉपी वैरीफिकेशन के लिए सीबीएसई की वेबसाइट सीबीएसई डॉट एनआईसी डॉट इन पर लिंक खुलेगा, जो मात्र पांच दिन के लिए खुलेगा। स्टूडेंट्स 500 रुपये प्रत्येक विषय के अनुसार शुल्क जमा कर अपनी कॉपी देख सकेंगे। इसके अलावा रिजल्ट जारी होने के 17 वें दिन चेक की गई कॉपियों की फोटो कॉपी भी प्राप्त कर सकेंगे। जिसके लिए 12वी के स्टूडेंट्स को 700 रुपये पर कॉपी व 10 वीं के स्टूडेंट्स को 500 रुपये शुल्क जमा करना होगा।

100 रुपए प्रति क्वेश्चन देना होगा

कॉपी रीचेकिंग के लिए रिजल्ट जारी होने के 21वें दिन लिंक खुलेगा, जो सिर्फ दो दिन तक खुला रहेगा। 100 रुपये प्रति क्वेश्चन के हिसाब से ऑनलाइन शुल्क जमा करके स्टूडेंट अपनी कॉपी दोबारा चेक करा सकेंगे।

ऑफलाइन नहीं होगा भुगतान

क्रेडिट, डेबिट कार्ड व नेट बैंकिंग के माध्यम से ऑनलाइन निर्धारित शुल्क जमा करना होगा। पोस्टल ऑर्डर, डिमांड ड्राफ्ट, मनीऑर्डर, चेक से भुगतान नहीं होगा।