40

बसें एक साथ निकलेंगी रोडवेज बस अड्डों से कुंभ के प्रमुख शाही स्नान पर्वो के दिन

12

सीसीटीवी कैमरा लगाए जाएंगे सिविल लाइंस बस स्टैंड के गेट से लेकर अंदर परिसर तक

2013

के कुंभ मेला में तीन हजार बसें मंगाई गई थी. इस बार दोगुनी बसें मंगाने की योजना है

कुंभ मेला में बस स्टेशनों पर यात्रियों की सुरक्षा के लिए लगाए जाएंगे सीटीटीवी कैमरे

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: कुंभ मेला के दौरान भीड़ नियंत्रण को लेकर सबसे ज्यादा रोडवेज और रेलवे की ओर से तैयारियां की जाती रही हैं. खासतौर से प्रमुख शाही स्नान पर्वो से पहले मेला में आने और स्नान करके वापस जाने के समय. यूनेस्को से कुंभ को सांस्कृतिक विरासत की सूची में शामिल किए जाने के बाद परिवहन निगम ने यात्रियों की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरा लगवाने की योजना बनाई है. यही नहीं कैमरे की निगरानी में बस स्टेशनों से एक साथ चालीस बसों का परिचालन कराने की भी योजना है.

सिविल लाइंस में लगेंगे बारह कैमरे

यात्रियों की सुरक्षा के लिए सिविल लाइंस बस स्टेशन के मेन गेट से लेकर परिसर के भीतर तक एक दर्जन सीसीटीवी कैमरा लगाए जाएंगे. जीरो रोड बस स्टेशन पर दस कैमरा लगाने की योजना बनाई गई है तो कुंभ मेला के लिए बनाए जाने वाले अस्थाई बस स्टेशनों में एक-एक कैमरा लगाए जाएंगे. अस्थाई बस स्टेशन रोडवेज की झूंसी स्थित वर्कशाप, त्रिवेणी पुरम, नेहरू पार्क चौफटका, सरस्वती हाईटेक सिटी, केपी इंटर कालेज व सीएमपी डिग्री कालेज के परिसर में बनाया जाएगा.

मेला में चलेंगी छह हजार बसें

कुंभ मेला के दौरान इलाहाबाद से छह हजार बसों का परिचालन प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में किया जाएगा. इसमें से एक हजार बसों को प्रमुख शाही स्नान पर्वो के दिन रिजर्व के तौर पर झूंसी स्थित वर्कशाप और सिविल लाइंस बस स्टेशनों में रखा जाएगा. इसके अलावा लखनऊ, गोरखपुर व वाराणसी परिक्षेत्र के अन्तर्गत चलने वाली दो सौ एसी जनरथ बसों को भी शामिल किया जाएगा.

बस स्टैंडों पर सीसीटीवी कैमरा लगाए जाएंगे. तीन महीने में अस्थाई बस स्टेशन तैयार हो जाएंगे. वहां भी सीसीटीवी कैमरा लगाए जाएंगे. ताकि दूरदराज के क्षेत्रों से आने वाले श्रद्धालुओं को परेशान न होना पड़े.

डॉ. हरीशचंद्र यादव, रीजनल मैनेजर, परिवहन निगम