-बाल अधिकार संरक्षण आयोग की टीम कर रही दून में प्राइवेट स्कूलों का निरीक्षण

-आयोग ने दिए हर प्राइवेट स्कूल में सीसीटीवी लगाने के निर्देश

DEHRADUN: राजधानी के अधिकतर प्राइवेट स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर स्कूल प्रबंधन की लापरवाही लगातार सामने आ रही है. बाल अधिकार संरक्षण आयोग द्वारा किए जा रहे देहरादून के निरीक्षण में स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर अनियमितताएं सामने आईं. कई स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे नहीं मिले और अगर मिले भी तो नाममात्र के. प्राइवेट स्कूलों में इस प्रकार की खामियों पर बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष ने दिशा निर्देश जारी किए हैं.

सीसीटीवी सर्विलांस जरूरी

दिल्ली के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में एक छात्र की हत्या के बाद सीबीएसई ने सभी स्कूलों में सीसीटीवी लगाना की जरूरी व्यवस्था लागू की थी. इसके बाद भी दून के कई स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे नहीं लगाए गए हैं. कुछ स्कूल एक-आध कैमरा लगाकर खानापूर्ति कर रहा है. बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष योगेन्द्र खंडूडी ने बताया कि देहरादून के प्राइवेट स्कूलों में आयोग की टीम लगातार निरीक्षण कर रही है, जिसमें ये देखने में आया है कि अधिकतर प्राइवेट स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे नहीं है. उन्होंने कहा कि हर प्राइवेट स्कूल को फीस के अनुरूप सुविधा देनी चाहिए. इसके लिए स्कूल का हर कोना सीसीटीवी सर्विलांस से कवर होना चाहिए. उन्होंने कहा कि ऐसे स्कूलों को आयोग द्वारा सीसीटीवी लगाने के निर्देश दिए हैं.