Agency: आपको शायद इस बात की जानकारी नहीं होगी कि जब आप किसी पेट्रोल पंप से डीजल या पेट्रोल की खरीदारी करते हैं तो आप वहां के शौचालयों के मेंटिनेंस का शुल्क भी चुकाते हैं। प्रति लीटर पेट्रोल यह शुल्क 6 पैसे और प्रति लीटर डीजल पर यह शुल्क 4 पैसे का है। शुल्क वसूले जाने से प्राप्त पैसे से पेट्रोल पंपों पर अच्छे शौचालयों का निर्माण और उनका बेहतरीन मेंटिनेंस करना है।

जब भी किसी को पेट्रोल पंप खोलने का लाइसेंस मिलता है तो उसके प्रावधान में स्पष्ट तौर पर यह बात शामिल होती है कि पेट्रोल पंप पर पीने के पानी और शौचालय की व्यवस्था अनिवार्य रूप से होगी। एक अग्रेंजी न्यूजपेपर के मुताबिक, एक रिपोर्ट में पेट्रोलियम मंत्रालय के अधिकारियों के हवाले से कहा है कि उन पेट्रोल पंपों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है, जहां शौचालय की उचित व्यवस्था नहीं है या उनका मेंटिनेंस सही तरीके से नहीं किया जा रहा।


अब आधे सरकारी वाहन चलेंगे बिजली से, होंगे ये फायदे

अगली बार आप किसी पेट्रोल पंप पर जाते हैं और शौचालय की बदहाली सामने आती है तो स्वच्छता ऐप के जरिए इसकी शिकायत पेट्रोलियम मंत्रालय से कर सकते हैं। यह भी बता दें कि पेट्रोल पंपों के शौचालयों का हर कोई इस्तेमाल कर सकता है।


ऐपल के कर्मचारी अपने नए spaceship ऑफिस में जाने की बजाय कंपनी छोड़ने की धमकी क्‍यों दे रहे हैं?

Business News inextlive from Business News Desk

Business News inextlive from Business News Desk