पुलिस कर भी क्या सकती है
ये तो सच है कि पुलिस कुछ नहीं कर सकती। अगर कर रही होती तो शायद अब तक चेन छीनने वाले डर कर अपने घरों में छुप जाते या जिला ही छोड़ देते। लेकिन उनको पता है कि अपने शहर की पुलिस बनारसी रंग में रंगी है। मस्त मौला है। तभी तो बुधवार को शिवपुर के वीडीए कॉलोनी फेज 1 में रहने वाले जयप्रकाश सिंह की बहन कुसुम सिंह के गले पर पड़ी 45 हजार रुपये की चेन नोचकर बाइक सवार भाग निकले। बदमाशों ने वारदात को उस वक्त अंजाम दिया जब कुसुम घर में पड़ी शादी के लिए परिवार की अन्य महिलाओं के साथ मिट्टी लेने के लिए घर से कुछ दूर निकली थी। कुसुम ने ये चेन दो दिन पहले ही खरीदी थी। पुलिस इस मामले में हवा में तीर चलाने का काम कर रही है।

ये है हाल चेन स्नैचिंग की वारदातों का
3 जून : कैंट के महावीर मंदिर के पास कटी साधना सिंह की चेन।
18 जून : चोलापुर के मुर्दहा बाजार में गीता सिंह की चेन ले उड़े बदमाश।
3 मई : बधवानाला में प्रवक्ता वीणा गौतम की चेन छीनी।
3 मई : रामनगर में महिला के गले से चेन ले उड़े बाइक सवार बदमाश।
5 मई : कैंट की प्रेमचंद्र नगर कॉलोनी में महिला के गले की चेन छीनी।
29 मई : महावीर मंदिर दर्शन को जा रही लेडी की चेन ले उड़े बदमाश।
31 मई : महमूरगंज में घर से निकली दरोगा की पत्नी की चेन बदमाशों ने नोची।