आगरा। आप पोलिंग बूथ पर वोट डालने के लिए पहुंचते हैं और आपको जानकारी दी जाती है कि आपका वोट डाला जा चुका है, तो आप यूं ही नहीं चले आएं। पीठासीन अधिकारी को अवगत कराएं कि उनका वोट आखिर कैसे डाला जा सका है और क्यों। इसके बाद आप चैलेंजिंग वोट डालकर ही वापस आएं, क्योंकि आपका चैलेंजिंग वोट निर्णायक भी साबित हो सकता है। इसलिए बगैर चैलेंजिंग वोट डाले वापस न आएं।

चैलेंजिंग वोट की जब होगी गिनती

आपकी आपत्ति पर पीठासीन अधिकारी बैलेट पेपर पर चैलेंजिंग वोट डलवाएगा। इसके बाद उसे एक डिब्बा में रखा जाएगा, लेकिन इस वोट की गिनती नहीं होगी। अगर होगी तो वह स्थिति दूसरी होगी। अगर दो प्रत्याशियों के बराबर-बराबर वोट निकले हैं, तो उस स्थिति में चैलेंजिंग वोटों की गिनती की जाएगी, जिनके आधार पर हार-जीत का निर्णय हो सकेगा। इसलिए आपका चैलेंजिंग वोट भी जरूरी है। मतदान जरूर करें।

बैलेट पेपर की रहेगी व्यवस्था

पोलिंग स्टेशन पर ईवीएम के अलावा बैलेट पेपर की भी व्यवस्था रहेगी, जिससे चैलेंजिंग वोट डलवाए जा सकें।