lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : माध्यमिक शिक्षा परिषद ने सात फरवरी से शुरू होने वाले यूपी बोर्ड के हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के कुछ विषयों की एग्जाम डेट के साथ ही उनके समय में भी परिवर्तन किया है। यह जानकारी डिप्टी सीएम व माध्यमिक शिक्षा मंत्री डॉ. दिनेश शर्मा की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई शिक्षाधिकारियों की बैठक में दी गई।

छात्रों के अनुरोध पर निर्णय
परिषद की ओर से जारी सूचना में कहा है कि हाईस्कूल और इंटर के कुछ विषयों के परीक्षा कार्यक्रम में व्यापक समय नहीं मिल रहा था। जिस पर प्रदेश के कई जिलों से लगातार सूचनाएं आ रही थीं। इसके बाद स्टूडेंट और पैरेंट्स के अनुरोध को देखते हुए दो मुख्य विषयों की एग्जाम डेट में एक दिन का अंतराल किया गया है।

विवि शिक्षकों को सातवें वेतनमान के लिये 102 करोड़ रुपये
इसके अलावा उधर, प्रदेश सरकार ने गुरुवार को राज्य विश्वविद्यालयों के शिक्षकों को सातवां वेतनमान देने के लिए 102 करोड़ रुपये जारी कर दिए। इससे 12 विश्वविद्यालयों के शिक्षकों को बढ़े हुए वेतन का लाभ मिल सकेगा।
यूपी बोर्ड इंटर के कई विषयों की एग्जाम डेट बदली
केंद्र सरकार वहन करेगी 50 फीसदी भार
सरकार ने विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की सिफारिशों के अनुसार शिक्षकों को एक जनवरी 2016 से सातवां वेतनमान देने का निर्णय लिया है। इस फैसले से आने वाले वित्तीय भार का 50 फीसद हिस्सा केंद्र सरकार वहन करेगी। उच्च शिक्षा विभाग ने गुरुवार को बढ़ी दरों पर वेतन व अन्य भत्ते देने के लिए 102 करोड़ रुपये जारी कर दिए हैं। उच्च शिक्षा निदेशक को यह धनराशि उपलब्ध करा दी गई है। यह धनराशि दयालबाग एजुकेशनल इंस्टीट्यूट आगरा, लखनऊ विश्वविद्यालय, महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ वाराणसी, उत्तर प्रदेश राजर्षि टंडन मुक्त विवि प्रयागराज, इलाहाबाद राज्य विवि प्रयागराज, डॉ। राम मनोहर लोहिया राष्ट्रीय विधि विवि लखनऊ, ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती उर्दू अरबी फारसी विवि लखनऊ, दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विवि, चौधरी चरण सिंह विवि मेरठ, सिद्धार्थ विवि कपिलवस्तु सिद्धार्थनगर, संपूर्णानन्द संस्कृत विवि वाराणसी व जननायक चन्द्रशेखर विवि बलिया के शिक्षकों के लिए दी गई है।

National News inextlive from India News Desk