DEHRADUN: चारधाम यात्रा में इस बार सस्ती हेली सेवाओं पर एक हेली कंपनी डेक्कन को छोड़ शेष ने अपनी सहमति प्रदान कर दी है। डेक्कन कंपनी ने सिरसी से केदारनाथ के लिए तय की गई दरों पर अपनी सहमति नहीं दी है। हालांकि, दो अन्य हेली कंपनियां यहां से तय न्यूनतम दरों पर हवाई सेवा देने को तैयार है। अब 14 व 15 मई को कार्यालय महानिदेशक नागरिक उड्डयन (डीजीसीए) का परीक्षण दल हेलीपैड और हेलीकॉप्टर का निरीक्षण करेगा। उम्मीद जताई जा रही है कि 15 अथवा 16 मई से हवाई सेवाएं शुरू हो जाएंगी। निदेशक यूकाडा डॉ। आर राजेश कुमार ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि अब 14 व 15 मई को डीजीसीए की टीमें हेलीपेड का निरीक्षण करेंगी। इनकी अनुमति मिलने के बाद हवाई सेवाओं का संचालन शुरू कर दिया जाएगा।

दर्शनार्थियों की उमड़ी भीड़
चारधाम यात्रा पर आने वालों में गुजरात, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश व राजस्थान टॉप फाइव स्टेट्स में शामिल हैं। सूचना के अनुसार गुजरात से सबसे ज्यादा यात्री पहुंचे हैं, जबकि सबसे कम महज एक यात्री मणीपुर, दो त्रिपुरा, तीन नागालैंड, चार अरुणांचल व केवल पांच यात्री दमन दीव से पहुंचे हैं। विदेशी यात्रियों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ रहा है। इनमें नेपाल के यात्री सबसे ज्यादा हैं, इनको मिलाकर फॉरेनर्स यात्रियों की संख्या अब तक के आंकड़ों के हिसाब से इस बार 873 तक पहुंच गई है।

अक्षय तृतीया से हुआ आगाज
विश्व प्रसिद्ध चार धाम यात्रा का आज से आगाज हो चुका है। अक्षय तृतीया के मौके पर गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट ग्रीष्मकाल के लिए खोले गए थे। कपाटोद्घाटन के लिए दोनों धामों को फूलों से सजाया गया था। सोमवार को गंगा की डोली अपने शीतकालीन प्रवास स्थल से गंगोत्री धाम के लिए रवाना हुई थी।