dehradun@inext.co.in
KEDARNATH: केदारनाथ में करीब 17 घंटे गुफा में अंर्तध्यान रहे पीएम नरेंद्र मोदी ने संडे को दोबारा बाबा केदारनाथ के दर्शन किए। इसके बाद वे बद्रीनाथ धाम के लिए रवाना हो गए। बद्रीनाथ रवाना होने से पहले पीएम ने मीडिया से बात की। कहा 'मैंने भगवान से कुछ नहीं मांगा। मैं मांगने की प्रवृत्ति से सहमत भी नहीं हूं.' मोदी ने कहा कि लंबे समय बाद दो दिन देश और दुनिया के वर्तमान वातावरण से दूर रहा। इसके लिए उन्होंने इलेक्शन कमीशन का भी आभार जताया। दोपहर में वे दिल्ली के लिए रवाना हो गए। केदारनाथ में मीडिया से अनौपचारिक बातचीत में उन्होंने कहा कि बाबा केदार के प्रति उनकी अगाध आस्था है। आध्यात्मिक चेतना की इस भूमि पर आने का उन्हें बार-बार मौका मिलता है। पीएम ने केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्यो की प्रगति के लिए स्टेट गवर्नमेंट की भी तारीफ की। कहा, वे खुद कार्यो पर नजर रख रहे हैं। मौका मिलते ही वीसी के जरिए अपडेट लेता रहता हूं। पीएम मोदी ने कहा केदारनाथ में सुविधाएं जुटाना एक बिग चैलेंज है। बाबा केदार से क्या मांगा मीडिया के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि भगवान ने आपको मांगने के लिए नहीं, बल्कि कुछ देने योग्य बनाया है। इसीलिए मांगने की प्रवृत्ति से मैं सहमत नहीं हूं।

बद्रीनाथ में 15 मिनट की पूजा
दो दिवसीय उत्तराखंड प्रवास के लास्ट डे पीएम नरेंद्र मोदी सुबह बद्रीनाथ धाम पहुंचे। जहां बीकेटीसी के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल ने उनका वेलकम किया। पीएम ने बद्रीनाथ धाम में करीब 20 मिनट तक पूजा-अर्चना की और मंदिर से बाहर आने के बाद उन्होंने मौजूद श्रद्धालुओं का हाथ हिलाकर अभिवादन किया। वे बीकेटीसी के गेस्ट हाउस में कुछ देर के लिए गए। जहां उन्होंने बीजेपी के कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों से भेंट की और उसके बाद वे दिल्ली के लिए रवाना हो गए।

प्रोटोकॉल तोड़ा, श्रद्धालुओं के बीच पहुंचे पीएम
पीएम के केदारनाथ दौरे को देखते हुए केदारनाथ में श्रद्धालुओं को दो घंटे वेट करना पड़ा। पीएम के प्रोग्राम शैड्यूल को देखते हुए मंदिर में सुबह पौने सात बजे से आम भक्तों के दर्शन रोक दिए गए और करीब 5 घंटे हेली सर्विसेज भी बंद रहीं। पीएम के दर्शनों का प्रोग्राम सुबह 7 बजे तय था, तैयारियां भी कर दी गई। लेकिन, मंदिर के ठीक दूसरी ओर की पहाड़ी पर स्थित गुफा से मंदिर तक पहुंचने में मोदी को काफी वक्त लग गया। ऐसे में वे सुबह करीब सवा आठ बजे मंदिर पहुंच पाए। मोदी ने मंदिर कैंपस से श्रद्धालुओं का हाथ हिलाकर अभिवादन किया। यहां तक कि प्रोटोकाल तोड़कर अन्य श्रद्धालुओं के बीच में पहुंच गए। करीब 9 बजे पीएम बद्रीनाथ के लिए रवाना हो गए। सुरक्षा को देखते हुए श्रद्धालुओं को बेस कैंप व लिनचोली में रोका गया था।

जौलीग्रांट एयरपोर्ट से 12.55 बजे हुए रवाना
पीएम नरेंद्र मोदी संडे को बाबा केदारनाथ व बद्रीविशाल धाम के दर्शन करने के बाद आर्मी हेलीकॉप्टर से जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचे। जहां एयरपोर्ट पर स्टेट की राज्यपाल व सीएम पहले से ही पीएम को विदाई देने पहुंचे हुए थे। इस दौरान जौलीग्रांट एयरपोर्ट के अंदर और बाहर सिक्योरिटी के पुख्ता इंतजाम किए गए। एयरपोर्ट को किले में तब्दील किया गया था। जबकि बाहर की जिम्मेदारी स्थानीय पुलिस के जिम्मे थी। पीएम नरेंद्र मोदी का सकुशल दौरा संपन्न होने के बाद शासन-प्रशासन के अधिकारियों ने राहत की सांस ली। एयरपोर्ट पर राज्यपाल बेबीरानी मौर्य, सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत, सीएस उत्पल कुमार सिंह, डीजीपी अनिल रतूड़ी सहित कई अधिकारी मौजूद रहे। पीएम नरेंद्र मोदी ने सभी का आभार जताते हुए विदाई ली। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भी पीएम के उत्तराखंड दौरे पर आभार जताया।

 

- पीएम मोदी संडे को स्पेशल विमान से दिल्ली हुए रवाना।

- पीएम का हेलीकॉप्टर जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर संडे को 12.35 मिनट पर किया लैंड।

- पीएम 12.55 मिनट पर इंडियन एयरफोर्स के स्पेशल विमान से दिल्ली के लिए हुए रवाना।