क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ: छठ महापर्व को लेकर तैयारी शुरू हो गई है. इसे लेकर शनिवार से घाटों की सफाई का काम युद्धस्तर पर किया गया ताकि नहाय खाय तक घाटों को दुरुस्त कर लिया जाए. इसके अलावा तालाबों में सफाई के बाद ब्लीचिंग का भी छिड़काव कराया जा रहा है, ताकि पानी में उतरने वालों को किसी तरह की परेशानी न हो. बताते चलें कि शुक्रवार तक सिटी के मुख्य तालाबों में कचरे का अंबार लगा था. इस दौरान अपर नगर आयुक्त गिरजा शंकर प्रसाद ने दौरा कर तालाबों की तत्काल सफाई कराने का आदेश दिया था.

सीढि़यों की धुलाई

शनिवार को सुबह से ही नगर निगम के स्टाफ्स तालाबों की सफाई में जुट गए थे. वहीं सुपरवाइजरों को भी इसकी मॉनिटरिंग करने को कहा गया था. ऐसे में दोपहर तक घाटों की सफाई करने के बाद सीढि़यों की भी धुलाई की गई. नहाय-खाय के लिए घाट पर आने वाले व्रतियों को कहीं गंदगी नहीं मिलेगी.

घाट के किनारों में भर रहे डस्ट

घाट के आसपासरास्ते और गढ्डों को दुरुस्त करने के लिए डस्ट गिराए जा रहे हैं. जरूरत के हिसाब से डस्ट का इस्तेमाल गढ्डों और किनारों को भरने के लिए भी किया जाएगा. इसके अलावा जरूरत पड़ने पर और डस्ट उपलब्ध कराने का आदेश भी दिया गया है. पूजा के लिए घाट तक पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को परेशानी नहीं होगी.

होगी बैरीकेडिंग, लगेगा रेड रिबन

तालाबों में बैरीकेडिंग का काम रविवार से शुरू होगा. एक अधिकारी ने बताया कि घाट पर लोग आएंगे. लेकिन पानी में लोग पहले ही दिन से ही उतरेंगे. इसलिए आज और कल तक सभी जगहों पर बैरीकेडिंग का काम कर लिया जाएगा. वहीं सुरक्षा के लिए रेड रिबन भी लगाया जाएगा, ताकि कोई भी गहरे पानी में न जाए.

लाइफ जैकेट के साथ स्टाफ्स तैनात

सुरक्षा को लेकर रांची नगर निगम ने कमर कस ली है. ऐसे में छठ के दिन नगर निगम के स्टाफ लाइफ जैकेट के साथ घाटों पर मौजूद रहेंगे, ताकि किसी भी तरह की अनहोनी से निपटा जा सके. इसके अलावा लोगों को जागरूक भी किया जाएगा कि वे गहरे पानी में न जाएं.

वर्जन

छठ के दिन तक हमारा सफाई अभियान जारी रहेगा. चूंकि लोग पूजा सामग्रियों का विसर्जन तालाबों में कर रहे हैं. जबकि इसके लिए जलकुंड बनाए गए हैं. जहां तत्काल सफाई कराई जा रही है. कुछ प्रतिमाएं विसर्जित की गई हैं उसे भी तत्काल हटाने का आदेश दिया गया है. रविवार तक सभी घाट दुरुस्त हो जाएंगे.

गिरजा शंकर प्रसाद, अपर नगर आयुक्त, आरएमसी