15 अप्रैल को पीसीबी हॉस्टल में हुई हत्या के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने उठाया सख्त कदम

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पीसीबी हॉस्टल में 15 अप्रैल को हुई हत्या के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने सख्त कदम उठाया है। विश्वविद्यालय के चीफ प्रॉक्टर प्रो। राम सेवक दुबे ने हॉस्टल में प्रदत्त शपथ पत्र के उल्लंघन, हॉस्टल नियमावली की अवहेलना व विश्वविद्यालय की छवि धूमिल होने की वजह से सौरभ विश्वकर्मा, प्रशांत उपाध्याय, आदर्श कुमार, आशुतोष कुमार शाही व अभिषेक यादव का नामांकन रद करते हुए उन्हें विश्वविद्यालय से निष्कासित कर दिया है। साथ ही पांचों छात्रों को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है।

महत्वपूर्ण तथ्य

सौरभ विश्वकर्मा, एमए हिन्दी अंतिम वर्ष

प्रशांत उपाध्याय, बीएससी प्रथम वर्ष

आदर्श कुमार, एमए हिन्दी अंतिम वर्ष

आशुतोष कुमार शाही, विधि तृतीय वर्ष

अभिषेक यादव, एमए प्राचीन इतिहास अंतिम वर्ष

यूनिवर्सिटी की डिग्री होगी वापस

विश्वविद्यालय प्रशासन ने जिन पांच छात्रों को मंगलवार को निष्कासित किया है। उनसे 15 दिनों के भीतर चीफ प्रॉक्टर कार्यालय में स्वयं उपस्थित होकर लिखित रूप से यह कारण बताना होगा कि आपने ऐसा कृत्य क्यों किया और पूर्व में आप द्वारा विश्वविद्यालय से ली गई उपाधियां वापस करने की प्रक्रिया आरंभ करने की संस्तुति भी क्यों ना की जाए।

पीसीबी हॉस्टल में हुई हत्या में छात्रों की पुलिस प्रशासन द्वारा जांच पड़ताल की जा रही है। इन छात्रों ने हॉस्टल नियमावली का उल्लंघन किया है। इसलिए पांचों छात्रों का नामांकन रद कर उनको विश्वविद्यालय से निष्कासित किया गया है।

प्रो। राम सेवक दुबे,

चीफ प्रॉक्टर इविवि