- फोर्ट स्टेशन पर लिफ्ट का मामला, एक घंटे की मशक्कत के बाद आरपीएफ ने निकाला

आगरा. आगरा फोर्ट स्टेशन पर शुक्रवार शाम लिफ्ट से चीख-पुकार की आवाज सुन अफरा-तफरी मच गई. रेलवे की लापरवाही के चलते लिफ्ट में एक बच्चा फंस गया. मौके पर यात्रियों की भीड़ जुट गई. आरपीएफ ने एक घंटे तक कड़ी मशक्कत के बाद उसे बाहर निकाला.

लिफ्ट का चल रहा है काम

आगरा फोर्ट स्टेशन पर यात्रियों के लिए सुविधाएं बढ़ाने का काम किया जा रहा है. इसके लिए यहां एस्केलेटर लगाने के साथ प्लेटफार्म नंबर चार पर लिफ्ट लगाने का काम भी चल रहा है. लिफ्ट के आसपास सुरक्षा का कोई इंतजाम नहीं है. शुक्रवार शाम करीब छह बजे एक बच्चा लिफ्ट में फंस गया. लिफ्ट बीच में ही रुक गई. बच्चे के चीखने व रोने की आवाज सुनकर यात्री एकत्र हो गए.

किसी तरह निकाला गया बच्चा

यात्रियों ने रेलवे अधिकारियों को इसकी सूचना दी. आरपीएफ की टीम ने उसे बाहर निकालने का प्रयास शुरू किया. लिफ्ट के दरवाजे को उन्होंने खोलने का प्रयास किया, लेकिन वह नहीं खुल सका. इसके बाद मैकेनिक को बुलाया गया. किसी तरह लिफ्ट को खोलकर बच्चे को बाहर निकाला गया. लिफ्ट से बाहर निकलने के बाद भी बच्चा काफी डरा हुआ था.

रिश्तेदार के साथ आया था बच्चा

बच्चे ने अपना नाम रियाज पुत्र राजू निवासी यमुना पार बताया. उसने एक महिला द्वारा वहां बुलाने और वहां से चले जाने की बात कही. इसी बीच वो लिफ्ट में फंस गया. जीआरपी फोर्ट थाना प्रभारी कृपाल शंकर ने बताया कि बच्चा कुछ देर के लिए लिफ्ट में बंद हो गया था. वह अपनी रिश्तेदार के साथ आया था.