-बच्चों के समग्र विकास पर फोकस करने का बीएसए ने जारी किया निर्देश

-14 नवम्बर से 28 नवम्बर तक स्कूलों में मनाया जाएगा बाल दिवस पखवाड़ा

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: बच्चों के समग्र विकास एवं उनके अधिकारों के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए जिले के सभी स्कूलों व केजीबीवी में चिल्ड्रेन्स डे यानी बाल दिवस के अवसर पर बाल दिवस पखवाड़ा के आयोजन की तैयारी है. इसके लिए बीएसए संजय कुशवाहा की ओर से जिले के सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी किया गया है.

दिए गए हैं विभिन्न निर्देश

-पखवाड़े के दौरान विद्यालय व समुदाय से बच्चों के विभिन्न अधिकारों के बारे में चर्चा करने का निर्देश दिया गया है.

-इसमें परिवार में बच्चे के सम्पूर्ण विकास के लिए किस प्रकार वातावरण तैयार किया जाना चाहिए.

-सभी बच्चों को जीवित रहने तथा विकास करने, पहचान का, अभिव्यक्ति का, सूचना प्राप्त करने का, हिंसा, दु‌र्व्यवहार, उपेक्षापूर्ण व्यवहार से सुरक्षित रहने, विशेष देखभाल, शिक्षा, स्वस्थ्य रहने का, पोषण, स्वच्छ वातावरण के बारे में बताना.

-अपने अधिकार जानने एवं प्यार और सम्मान पाने के अधिकार के बारे में जागरुक किया जाए.

लिंग भेद दूर करने के लिए बने बाल चार्टर

बच्चों को जागरूक करने, बच्चों की भागीदारी, बच्चों की सुरक्षा व कानूनी प्रावधान, बाल विवाह, बाल मजदूरी, स्वच्छता आदि पर चित्रकला, नाटक, कविता, पोस्टर मेकिंग, फोटोग्राफी, डिवेट आदि कार्यक्रम आयोजित किए जाए तथा बच्चों द्वारा तैयार सामग्री की प्रदर्शनी लगाकर समुदाय द्वारा अवलोकन व चर्चा की जाए. इसके साथ ही स्थानीय स्तर पर विभिन्न विभागों यथा पुलिस विभाग, चाइल्ड प्रोटेक्शन कमेटी, आशा ज्योति केन्द्र, चाइल्ड हेल्प लाइन, कालेज व स्वैच्छिक संस्थाओं से समन्वय कर बाल अधिकारों के विषय पर बच्चों व समुदाय से वार्तालाप कराने, शहरी क्षेत्र के मलिन बस्तियों में रहने वाले परिवारों के साथ जनसंपर्क व बैठक कर जागरूकता कार्यक्रम किए जाए. विद्यालय व समुदाय स्तर पर रैली, नुक्कड़ नाटकों का प्रर्दशन करने व बाल अधिकारों पर आधारित पोस्टर आदि तैयार कर मुख्य स्थानों पर वितरित किए जाए. जनपद में बच्चों द्वारा उनके संवैधानिक अधिकारों के आलोक में लिंग भेद सहित समाज की स्थापना एक बाल चार्टर तैयार किया जाए. जिससे बच्चों और लोगों में बाल अधिकार के प्रति अधिक से अधिक जागरूकता फैलाई जा सके.