यूपी बोर्ड में 12वीं के बच्चों के लिए शुरु की जाएगी किताब

स्वतंत्रता सेनानियों के संघर्ष के बारे में मिलेगी जानकारी

MEERUT । देश के लिए शहीद होने वाले फ्रीडम फाइटर्स के बारे में अब स्टूडेंट्स और करीब से जान सकेंगे। इसके लिए यूपी बोर्ड ने नई पहल की है। इस पहल के तहत बोर्ड ने स्वतंत्रता सेनानियों की जानकारी देने के लिए अलग से किताब लगाई गई हैं। इस किताब को इसी सेशन से सिलेबस में जोड़ा जा रहा है।

-----

बच्चों को जानकारी

यूपी बोर्ड इस किताब को सबसे पहले 12वीं में लागू करने जा रहा है। बोर्ड अधिकारियों का मानना है कि बच्चों को न केवल देश के लिए अपना योगदान देने वाले सेनानियों के बारे में जानकारी होनी चाहिए। इसके साथ ही बच्चों को उनके जीवन दर्शन का पालन भी करना चाहिए ताकि उनके आदर्शो को अपने जीवन में फॉलो करे इसलिए इस तरह की किताब को लागू किया जा रहा है। इसके अलावा स्टूडेंट्स को देश के इतिहास व स्वतंत्रता की लड़ाई से जुड़े तथ्यों के बारे में पढ़ाएगा।

यूपी के योगदान का ध्यान

यूपी बोर्ड की ओर से इस किताब में स्वतंत्रता संग्राम और संविधान निर्माण में यूपी की भूमिका के बारे में भी बताया गया है। ऐसे में प्रदेश से जुड़े सेनानियों को स्टूडेंट्स करीब से जाने और उनकी वीरता की गाथाएं समझे इसलिए यूपी के फ्रीडम फाइटर्स को इसमें शमिल किया गया है। इस दौरान स्टूडेंट्स को मंगल पांडे, बेगम हजरत महल, झांसी की रानी लक्ष्मी बाई, झलकारी बाई, आचार्य नरेंद्र देव समेत 1857 की क्रांति से जुड़ा इतिहास भी इसमें शामिल किया गया है। बच्चों को अपने प्रदेश के गौरव से जोड़ने के लिए इस योजना को शुरु किया गया है।

यूपी बोर्ड की ओर से स्टूडेंट्स के बेहतर विकास और ग्रोथ के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं। बोर्ड की यह पहल भी अनूठी है। इससे स्टूडेंट्स अपने प्रदेश के गौरव और इतिहास को करीब से न केवल जान सकेंगे बल्कि आदर्शो को भी अपना सकेंगे।

गिरजेश कुमार चौधरी, डीआईओएस, मेरठ।