Baidu ने गूगल को भी पीछे छोड़ा

बता दें के जैसे पूरी दुनिया इंटरनेट पर सर्च करने के लिए गूगल का इस्‍तेमाल करता है, वैसे ही पूरा चाइना Baidu का इस्‍तेमाल करता है। चाइना के सबसे बड़े सर्च इंजन Baidu ने एक ऐसा ऑर्टीफिशियल इंटेलीजेंस प्रोग्राम डेवलप करने का दावा किया है जो इंसानों की आवाज को सिर्फ 60 सेकेंड सुनकर उसकी पूरी तरह से नकल कर सकता है। जी हां यह सच है कि Baidu का यह सॉफ्टवेयर आम लोगों की आवाज को कॉपी करके फिर उन्‍हीं की आवाज में बात कर सकता है।

पुरुष की आवाज को बदल सकता है महिला की आवाज में

इस प्रोग्राम की एक और खासियत यह है कि यह किसी पुरुष की आवाज को महिला की आवाज में ही बदल सकता है। फिलहाल यह प्रोग्राम किसी ब्रिटिश पुरुष की आवाज को अमेरिकी महिला की आवाज में भी बोल सकता है। इस प्रोग्राम को डेवलप करने वाली Baidu की रिसर्च टीम का कहना है कि इसकी मदद से डिजिटल आवाज को कंप्‍यूटर पर बनाया जा सकता है। अगर आप चाहें तो केवल आधे घंटे की ट्रेनिंग के बाद आप इसकी मदद से अपनी बात बिना बोले अपनी आवाज में कह सकते हैं। यानि कि गूगल वॉयल असिस्‍टेंस से बहुत आगे जाकर Baidu का यह प्रोग्राम ऑटोमेटिक स्‍पीच ट्रांसलेशन का काम चुटकियों में कर सकता है।

आ रहा है Google स्‍मार्ट Reply ऐप, जो व्‍हाट्सऐप, फेसबुक और Hangouts पर खुद ही भेज देगा आपके दिल से निकला मैसेज

चाइना का एक और कमाल,सिर्फ 1 मिनट में आपकी आवाज की हूबहू नकल कर सकता है baidu

यह लेजर चार्जर बिना तार के ही आपका स्‍मार्टफोन कर देगा चार्ज

बोलने में असमर्थ लोगों के लिए साबित होगा वरदान

Baidu का दावा है कि बोलने में असमर्थ लोगों के लिए उनका यह प्रोग्राम वरदान साबित होगा और इस तकनीक से इंसान बहुत कुछ नया सीख सकता है। दूसरी ओर गूगल के वॉयस अस्टिेंट सॉफ्टवेयर के बारे में गूगल ने बताया है कि जल्‍दी ही उनका यह वॉयस प्रोग्राम दुनिया की 30 भाषाओं में उपलब्‍ध हो जाएगा। कंपनी का दावा है है कि इसके साथ ही गूगल वॉयस अस्टिेंट की विस्‍तार दुनिया के 90 परसेंट से ज्‍यादा लोगों तक पहुंच जाएगा। वैसे Baidu के ऑटोमेटिक स्‍पीच ट्रांसलेशन ने गूगल को भी पीछे छोड़ दिया है।

ZTE ने लॉन्‍च किया 2 डिस्‍प्‍ले वाला फोल्डिंग स्मार्टफोन जो मिलकर बन जाता है बिग स्‍क्रीन टैबलेट

Technology News inextlive from Technology News Desk