चीन ने आईएसआई को क्‍लीन चिट
चीन के विशेष दूत सुन युशी ने आतंकवादी संगठनों को सपोर्ट करने के आरोपों से पाकिस्‍तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई को क्‍लीन चिट दे दी है. युशी ने कहा कि पाकिस्‍तान सरकार ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में काफी सकारात्‍मक कॉंट्रीब्‍यूशन दिया है. यूशी ने बीजिंग में यह कहा कि पाकिस्‍तान सरकार और उनकी कोई भी जांच एजेंसी आतंकवादी संगठनों से जुड़ने के जगह आतंकवाद के खात्‍मे के लिए काम करेगी. गौरतलब है कि चीनी दूत इससे पहले इटली और पोलैंड में भी काम कर चुके हैं.

आईएसआई ने दिया पॉजिटिव कॉंट्रीब्‍यूशन
जब चीनी दूत से भारतीय वाणिज्‍य दूतावास पर हमले के पीछे पाकिस्तानी आतकंवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा और आईएसआई का हाथ होने के आरोपों के बारे में पूछा गया तो युशी ने बताया कि उन्‍हें लगता है कि पाकिस्‍तानी जांच एजेंसी आईएसआई ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में काफी सकारात्‍मक योगदान दिया है. हालांकि इसके बाद चीनी दूत ने कहा कि वे पिछले कई दिनों से घटनाक्रम पर कोई नजर नही रख पा रहे हैं.

आतंकवाद की लड़ाई में प्रभावी पाक
चीनी राजदूत ने कहा उनका मानना है कि फ्यूचर में पाकिस्‍तान सरकार अफगानिस्‍तान में रिकंस्‍ट्रक्‍शन एक्टिविटीज में और इंटरनेशनल कम्‍यूनिटी के साथ वॉर औन टैरर में खुलकर साथ देगी. गौरतलब है कि चीनी राष्‍ट्रपति हु जिंताओं की दिल्‍ली यात्रा से पहले अरूणाचल प्रदेश पर चीन का दावा करने के कारध काफी चर्चा में रहे हैं. इसके बाद जब अफगानिस्‍तान में भारत और चीन की किसी संयुक्‍त परियोजना के बारे में पूछा गया तो चीनी राजदूत ने कहा कि उन्‍हें इस बारे में कोई जानकारी नही है. हालांकि उन्‍होंने कहा कि वे भविष्‍य में दोनों देशों को शामिल करने वाली विभिन्न परियोजनाओं पर काम कर सकता हूं.

International News inextlive from World News Desk