-सामने से आ रहे व्हीकल ड्राइवर को नहीं नजर आता कुछ

BAREILLY: आंवला में हाइवे पर ट्रक की तेज लाइट की वजह से एसआई की जान चली गई. ऐसा अधिकतर वाहन चालकों के साथ होता है. जो लोग वाहन में तेज लाइट लगाते हैं, उन्हें पता भी नहीं होता है कि सामने से आ रहे वाहन चालक पर इसका क्या असर पड़ता है. दैनिक जागरण आईनेक्स्ट की पहल पर ट्रैफिक पुलिस ने बदायूं रोड पर अभियान चलाया. अभियान के दौरान काफी चौंकाने वाले हालात सामने आए. यहां तक कि छोटे वाहनों में तेज रोशनी वाली चाइनीज एलईडी लाइट लगा रखी थीं. ट्रैफिक पुलिस आगे भी तेज लाइट जलाकर चलने वालों के खिलाफ अभियान चलाएगी.

किसी को नहीं कोई जानकारी

बदायूं रोड पर चेकिंग के दौरान ट्रैफिक पुलिस ने तेज लाइट जलाकर जा रहे स्कूटर सवार को रोका. ड्राइवर सुरजीत से पूछा कि उसने यह लाइट क्यों लगवा रखी है तो उसने कुछ भी बोलने से ही साफ इनकार कर दिया. उसने हाई बीम व लो बीम लाइट की जानकारी होने से भी इनकार कर दिया. इसी तरह से ई-रिक्शा ड्राइवर राम सिंह ने भी एक्स्ट्रा एलईडी लाइट सिर्फ इसलिए लगा रखी थी ताकि उसे सामने का साफ नजर आए. इसी तरह से राम सिंह ने शौक में ही एलईडी लाइट लगवा रखी थी. जब उनसे पूछा क्यों लाइट लगवाई तो जवाब था कि सभी ने लगवाई है, इसलिए लगा ली. एक ट्रक ड्राइवर ने विजय ने बताया कि उसने तेज रोशनी के लिए लाइट लगायी है. उसने लो और हाई लाइट के बारे में जानकारी से ही इनकार किया.

क्या है लो बीम और हाई बीम

-गाड़ी रात में हमेशा लो बीम पर ही चलानी चाहिए

-जब किसी गाड़ी से पास लेना हो तो हाई बीम जलाकर बंद कर देना चाहिए

-रात में फॉग लाइट का भी इस्तेमाल करना चाहिए

-गाड़ी में कोई भी एक्स्ट्रा लाइट नहीं लगा सकते हैं

-पहले ब्लैक पट्टी लाइट पर लगाते थे लेकिन अब बटन का यूज होने लगा है