39 शिकायतों का किया गया निस्तारण, एडीएम फाइनेंस ने संशोधन किया ओके

भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के बाद लागू हो सकते हैं संशोधित सर्किल रेट्स

Meerut. सर्किल रेट्स को लेकर लगातार कवायद के बाद भी जिला प्रशासन किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सका है. ऐसे में संभावनाएं जताई जा रही हैं कि सर्किल रेट्स एक बार फिर रिवाइज किए जाएंगे. निबंधन विभाग ने करीब 39 शिकायतों का निस्तारण इस दौरान किया है तो वहीं संभावना है कि भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के बाद डीएम अनिल ढींगरा संशोधन को ओके रिपोर्ट देंगे और इसके बाद ही नवीन सर्किल रेट्स लागू हो सकेंगे.

प्रस्तावित रेट्स पर आपत्तियां

आमतौर पर 1 अगस्त से लागू होने वाले सर्किल रेट्स इस बार देरी से लागू होंगे. इसका बड़ा कारण प्रस्तावित सर्किल रेट्स पर नियत तिथि के बाद आपत्तियों का आना है. नियत तिथि 29 जुलाई तक निबंधन विभाग के पास महज 5 आपत्तियां और सुझाव थे जो 1 अगस्त तक बढ़कर 39 हो गई. ज्यादातर आपत्तियां निर्माण की दरों को बढ़ाने को लेकर हैं तो वहीं कुछ लोगों ने शहर के बाहरी हिस्सों में प्रॉपर्टी के रेट्स बढ़ने पर आपत्ति जताई है. ग्रामीण अंचल में सेगमेंट की दरों के बढ़ने पर भी लोगों ने अपनी आपत्ति जताई है.

शिकायतों का हुअा निस्तारण

एआईजी स्टांप वीके तिवारी ने बताया कि ज्यादातर शिकायतों को निस्तारण कर दिया गया है. निर्माण की दरों में वृद्धि आसपास के जनपदों की स्थिति को देखकर की गई है. शहर के उन्हीं हिस्सों में दरों को बढ़ाया गया है जहां तेजी से कॉलोनियों का विकास हो रहा है. मोहल्लों के रेट्स, सड़क पर प्रॉपर्टी के रेट़्स से अधिक थे. उन्हें संशोधित किया गया है. एआईजी स्टांप ने बताया कि शिकायतों को संज्ञान में लेकर एक बार फिर विभिन्न क्षेत्रों का सर्वे कराया जा रहा है.

12 अगस्त के बाद फाइनल होंगे रेट्स

गौरतलब है कि डीएम के अनुमोदन के बाद ही संशोधित सर्किल रेट्स को लागू किया जाएगा. क्योंकि 11 और 12 अगस्त को भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक है, प्रशासनिक अमला सीएम योगी आदित्यनाथ समेत सैकड़ों की संख्या में जुटने वाले जनप्रतिनिधियों की सुरक्षा और व्यवस्था में रहेगा. ऐसी स्थिति में प्रस्तावित सर्किल रेट्स पर डीएम अनिल ढींगरा द्वारा बैठक के बाद ही निर्णय हो सकेगा.

प्रस्तावित सर्किल रेट्स को लेकर कुछ आपत्तियों और सुझावों का अभी निस्तारण नहीं हो सका है. हालांकि विभाग द्वारा अपनी तैयारी पूरी कर ली गई है किंतु डीएम के अनुमोदन के बाद ही प्रस्तावित रेट्स को लागू किया जाएगा.

आनंद कुमार शुक्ला, एडीएम फाइनेंस, मेरठ