- डिविजन ऑफिस में रोजाना पहुंच रही मीटर तेज चलने की शिकायतें

- हैरान परेशान कंज्यूमर्स खोज रहे हैं इस समस्या का समाधान

varanasi@inext.co.in

varanasi

मैनुअल मीटर का जमाना लदने के बाद नया इलेक्ट्रॉनिक मीटर कंज्यूमर्स को ओवर बिलिंग का झटका दे रहा है. हालात ये है कि डिविजन और सब डिविजन ऑफिस में तेज मीटर चलने की रोजना दो से चार शिकायतें पहुंच रही है. अब उन्हें एवरेज बिल से एक्स्ट्रा भुगतान करना पड़ रहा है. वहीं पावर कॉरपोरेशन के अधिकारियों के दावों की मानें तो क्लेम वाले मीटर हर जांच में खरे उतर रहे हैं. इलेक्ट्रॉनिक मीटर में गड़बड़ी की कोई गुंजाइश नहीं है.

बिगड़ रहा बजट

इलेक्ट्रॉनिक मीटर चलन में आने के बाद सबसे ज्यादा शिकायतें उसके तेज चलने की आ रही हैं. इसके चलते कंज्यूमर्स को हर महीने आने वाली एवरेज बिलिंग से ख्0 से ख्ख् परसेंट तक ज्यादा पैसा चुकाना पड़ रहा है. बिल रिवाइज कराने के बावजूद उन्हें कोई राहत नहीं मिल रही है. इसका असर मिडिल क्लास फैमिली के महीने के संतुलित बजट पर भी पड़ने लगा है.

जीरो वॉट को करता है रीड

मैनुअल मीटर के बदले जीनस, एचपीएल और सिक्योर कम्पनी के इलेक्ट्रॉनिक मीटर लगाये गये हैं. खास बात यह है कि नये जमाने का यह इलेक्टॉनिक मीटर पावर कंजम्शन की हर एक्टिविटी को रीड करता है. पहले मैनुअल मीटर में क्0 वॉट तक के इक्यूपमेंट यूज करने पर भी बिल नहीं आता था. उस दौर के कमर्शियल और घरेलू मीटर एक ही कैटेगरी के होते थे.

वर्जन

नये जमाने के इलेक्ट्रॉनिक मीटर में ओवर बिलिंग का सवाल ही नहीं उठता. फिर भी ऑफिस आने वाले कंज्यूमर्स की शिकायतों पर उन्हें चेक कराया जा रहा है.

सुनील कुमार, एसडीओ पंचम डिविजन

हाईलाइटर

- ख् से ब् शिकायतें रोज

- भ्7,म्78 मीटर टाउन वन में

- म्भ्,भ्ब्भ् मीटर टाउन टू में

नोटेड

- बदल दें पुरानी वायरिंग

- पुराने दौर के पंखे भी बढ़ाते हैं लोड

- करें अर्थिग की प्रॉपर व्यवस्था

- पावर सेवर इक्यूपमेंट का करें यूज

पब्लिक वर्जन

जब से इलेक्ट्रॉनिक मीटर लगा है, ब् सौ रुपये एक्स्ट्रा बिल आ रहा है. जबकि पहले 8 सौ रुपये में ही काम चलता था.

संदीप

मीटर दोबारा बदलने के बाद भी कोई सुधार नहीं हुआ. पहले से ज्यादा बिल चुकाना पड़ रहा है.

राकेश

ओवर बिलिंग की शिकायत तो की गयी है. पावर कॉरपोरेशन के अधिकारी ने मीटर चेक कराने का आश्वासन दिया है.

विशाल