-कंपनियों को अब रोजगार मेला के लिए क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय के पोर्टल पर कराना होगा रजिस्ट्रेशन

-बेरोजगारों को धोखाधड़ी से बचाने को कार्यालय ने उठाया कदम

पिछले महीने गुड़गांव की एक कंपनी बनारस में रोजगार दिलाने के बहाने करीब 21 स्टूडेंट्स को इंटर्नशिप कराने का वादा कर मोटी रकम लेकर अब तक फरार है. इस फ्रॉड की भनक लगते ही क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय चौकाघाट में हड़कंप मच गया. इसके बाद कार्यालय प्रशासन ने यह तय किया कि सेवायोजन कार्यालय की वेबसाइट पर बिना एंट्री कराए कोई भी मल्टीनेशनल कंपनी रोजगार मेला नहीं लगा सकेगी. सेवा नियोजकों को पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य कर दिया गया है. साथ ही कंपनियों को यह ताकीद भी की गई है कि कैंडीडेट्स के साथ यदि किसी प्रकार का धोखा हुआ तो आगे से उनको डीएम की संस्तुति पर ब्लैक लिस्टेड भी करार दिया जा सकता है. मेला में आने वाली कंपनियों को यह भी जानकारी देनी होगी कि उनकी ब्रांच किन-किन शहरों में है.

अभ्यर्थियों से वसूली कर फरार

गुड़गांव की कंपनी ने रोजगार मेला में आए कैंडीडेट्स को विभिन्न पोस्ट पर सेलेक्ट किया था. किसी से तीन सौ तो किसी से दो हजार तक की रकम वसूली गई. इसके बाद कैंडीडेट्स को भरोसा दिलाया गया था कि बनारस में ही इंटर्नशिप कराकर पक्की जॉब दी जाएगी. मगर एक सप्ताह बीतने के बाद भी जब कंपनी की ओर से कोई कांटेक्ट नहीं किया गया तो परेशान कैंडीडेट्स ब्रांच ऑफिस पहुंचे तो वहां ताला लटका हुआ मिला. पूछने पर पता चला कि कंपनी यहां से भाग चुकी है.

नियम बना सख्त

सेवायोजन कार्यालय में हर महीने एक रोजगार मेले का आयोजन होता है. इसके लिए प्राइवेट सेक्टर की कंपनियों को बिना वेरीफिकेशन किये ही बुला लिया जाता था. कंपनी की ब्रांच, पैकेज व उसकी क्षमता आदि की जानकारी पहले नहीं देनी होती थी, ये सब जानकारी इंटरव्यू समाप्त होने के बाद कंपनी की एचआर टीम मौखिक तौर पर बताती थी. मगर अब ऐसा नहीं चलेगा, सहायक निदेशक के निर्देश पर यह तय किया गया है कि कोई भी कंपनी सेवायोजन कार्यालय के पोर्टल पर बगैर रजिस्ट्रेशन कराए रोजगार मेले में भागीदारी नहीं दर्ज करा सकती.

अब ये करना होगा फॉलो

-अब कंपनी को डिटेल बताना होगा कि वह कितने सेलेक्शन चाहती है और सेलेक्टेड को पैकेज क्या मिलेगा

-रिक्रूटमेंट कहां-कहां किया जाना है यह भी पहले बताना होगा

-रजिस्ट्रेशन के बगैर किसी कंपनी को नहीं मिलेगी एंट्री

वर्जन--

क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय के पोर्टल पर बगैर रजिस्ट्रेशन कराए कंपनियों को रोजगार मेला में शामिल नहीं किया जाएगा.

दीप सिंह, मेला प्रभारी

क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय, चौकाघाट