-पुलिस की कार्यप्रणाली में पारदर्शिता लाने के लिए नई पहल

-तकनीकी सेवा के जरिए वादियों को सहूलियत देगी पुलिस

vinod.sharma@inext.co.in

VARANASI

पुलिस की कार्यप्रणाली हर किसी के लिए बहुत सुविधाजनक नहीं है। कोई मुकदमा दर्ज होने के बाद वादी को उनकी प्रगति का पता ही नहीं चल पाता। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा,

मुकदमा से जुड़ा हर अपडेट मोबाइल फोन पर एसएमएस के जरिए वादी के पास पहुंचेगा। पुलिस की कार्यप्रणाली में पारदर्शिता लाने और पब्लिक की सहूलियत के लिए यूपी पुलिस की तकनीकी सेवा ने यह पहल की है।

हर सूचना मोबाइल पर

पीडि़त के शिकायत लेकर पुलिस के पास पहुंचने के बाद उसे एसएमएस के जरिए केस दर्ज होने, मुकदमे के विवेचक, उसका मोबाइल नंबर, इंवेस्टिंगेशन ट्रांसफर होने, जांच अधिकारी बदलने, आरोपितों के गिरफ्तार होने, माल बरामद होने, मामले में चार्जशीट या फाइनल रिपोर्ट लगने जैसी मुकदमे से जुड़ी हर छोटी-बड़ी सूचना मिल सकेगी।

थानों का नहीं लगाना होंगा चक्कर

इस नई पहल से अब वादी को मुकदमे से जुड़ी जानकारी के लिए बार-बार थाने का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। इस व्यवस्था से थानों में वादी का शोषण नहीं होगा। उन्होंने बताया कि वर्तमान में पुलिस, कोर्ट और जेल से जुड़ी सारी सूचनाएं सीसीटीएनएस के जरिए जुड़ गई हैं। हर सूचना ऑनलाइन मौजूद है।

ऑनलाइन निगरानी

मुकदमों से जुड़े अपडेट मोबाइल एसएमएस के जरिए भेजे जाने से पॉक्सो एक्ट व अन्य गंभीर अपराध के मामलों की निगरानी बेहतर तरीके से हो सकेगी। पॉक्सो एक्ट की विवेचना दो माह में पूरी करके चार्जशीट दाखिल करने के सुप्रीम कोर्ट के निर्देश हैं। एसएमएस सेवा के जरिए पॉक्सो एक्ट के जांच अधिकारी को विवेचना दो माह के अंदर समाप्त करने के लिए एसएमएस के जरिए 31वें, 40वें, 50वें, 55वें एवं 60वें दिन अलर्ट भेजा जाएगा। यह जानकारी पुलिस अधिकारियों के पास भी आएगी। ताकि हाई कमान जांच अधिकारी के कार्यो की समीक्षा कर सकें।

मिलेंगी यह सूचनाएं

एफआईआर रजिस्ट्रेशन ई-एफआईआर रजिस्ट्रेशन

एफआईआर ट्रांसफर

अरेस्ट मेमो

सीजर मेमो

चार्जशीट

अंतिम रिपोर्ट

नागरिक सेवा

शिकायत पंजीकरण

किराएदार सत्यापन

घरेलू सहायता

चरित्र प्रमाण पत्र

कर्मचारी सत्यापन

वर्जन

यूपी पुलिस की नई पहल से विभाग को काफी सहूलियत मिलेगी। समय-समय पर वादी को अपने मुकदमे का अपडेट मिलता रहेगा, जिसके चलते थानों में भीड़ नहीं जुटेगी। इससे पुलिस के का में भी तेजी आएगी।

-दिनेश सिंह, एसपी सिटी