-19 मई को मतदान को लेकर शहर में उत्साह का माहौल

-हर चुनाव में वोट देने वाले स्वतंत्रता सेनानी से लेकर दिव्यांग वोटर तक पहुंचेंग बूथ तक

vinod.sharma@inext.co.in

VARANASI

लोकसभा चुनाव में देश की सबसे चर्चित वाराणसी संसदीय सीट पर 19 मई रविवार को मतदान होगा। लोकतंत्र के उत्सव में शामिल होने के लिए पूरे शहर में उत्सव का माहौल है। हर वोटर मतदान के लिए उत्साहित है। खासकर युवा वर्ग, जो पहली बार वोट डालेगा। इसके साथ ही ऐसे लोग भी पोलिंग बूथ तक पहुंचेंगे जो हर वोटर के लिए मिसाल साबित होंगे। इनमें आजादी से बाद से लगातार वोट करने वाले स्वतंत्रता सेनानी और दिव्यांग भी हैं। मतदान से पहले उन्होंने वो‌र्ट्स को मतदान के लिए जागरुक किया।

आजादी के बाद से डाल रहे वोट

राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित स्वतंत्रता सेनानी तिलक राज कपूर 92 साल के हैं। वह बताते हैं कि आजादी के बाद 1952 में पहली बार हुए चुनाव में उन्होंने वोट डाला था, तब से लगातार मताधिकार का प्रयोग कर रहे हैं। इस बार भी वोट डालने के लिए उत्साहित हैं।

सरकार बनाने में मेरा भी एक वोट

दिव्यांग किरन यादव कहती हैं कि 2017 के विधानसभा चुनाव में पहली बार वोट किया था। गांवों और बच्चों में ज्ञान का अलख जगा रही किरन कहती हैं कि लोकतंत्र के महापर्व में शरीक होना सौभाग्य की बात हैं। मुझे गर्व भी है कि मेरे एक वोट से सरकार बनती है।

वैसाखी के सहारे बूथ तक

दिव्यांग अरविंद कुमार ठीक से चल नहीं पाते हैं। उनका हर कदम वैसाखी के सहारे ही आगे बढ़ता है। बावजूद इसके वह 19 मई को मतदान के लिए काफी उत्साहित हैं। कहते हैं कि मैं वोट देने के लिए मैं पूरी तरह से फिट हूं। वोट देना मेरा अधिकार है।

व्हीलचेयर से पहुंचेंगे बूथ तक

दिव्यांग संजय श्रीवास्तव व्हीलचेयर के सहारे चलते हैं। वह कहते हैं कि कुछ भी हो 19 मई को मतदान करने जरूर जाऊंगा। हालांकि बीएलओ ने बताया कि निर्वाचन आयोग के वालेंटियर आएंगे और उन्हें पोलिंग बूथ तक ले जाएंगे।

फ्लाइट से आए वोट देने

वोट देने के लिए मुंबई से आए

मुंबई स्थित कम्पनी में बतौर सीनियर मैनेजर काम कर रहे उपमन्यु सिंह दीक्षित कहते हैं कि मैं बनारस का रहने वाला हूं। हर चुनाव में वोट देने जरूरत आता हूं। भले ही इसके लिए मुझे महंगे फ्लाइट के टिकट खरीदने पड़े तो क्या।