-मार्च 2017 में ईकोग्रीन कंपनी ने काम शुरू किया

-वर्ष 2010 से मार्च 2017 तक ज्योति इनवायरोटेक का रहा कार्यकाल

-55 फीसदी घरों से नहीं उठ रहा है कूड़ा

-45 फीसदी घरों से ही किया जा रहा कूड़ा कलेक्शन

- कई इलाकों में पटरी से उतरी घरों से कूड़ा कलेक्शन व्यवस्था

- अभी सिर्फ 45 फीसदी घरों से उठ रहा है कूड़ा, जनता परेशान

द्यह्वष्द्मठ्ठश्र2@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

शहर में एक बार फिर से घरों से कूड़ा कलेक्शन की व्यवस्था दम तोड़ती नजर आ रही है. आलम यह है कि पूरे शहर से सिर्फ 45 फीसदी घरों से कूड़ा कलेक्शन का काम किया जा रहा है, जबकि 55 फीसदी घरों में रहने वाले लोगों को फिलहाल घरों से कूड़ा कलेक्शन का इंतजार है. हाल में ही आयोजित सदन में इस मामले को लेकर पार्षदों ने खासा विरोध दर्ज कराया था.

व्यवस्था बदली, स्थितियां नहीं

एक अप्रैल से कूड़ा कलेक्शन की नई व्यवस्था लागू की गई. नई व्यवस्था के तहत प्रत्येक जोन के 5 वार्ड चिन्हित किए गए. पहले इन वार्डो में शत प्रतिशत घरों से कूड़ा उठान की व्यवस्था को मजबूत किया जाना था. इसके बाद दूसरे चरण में फिर पांच से सात वार्ड लिए जाने थे. नई व्यवस्था तो लागू हुई, लेकिन चयनित पांच वार्डो में से शत प्रतिशत कूड़ा कलेक्शन नहीं किया जा सका. जिसके बाद पार्षदों ने निगम प्रशासन से इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई थी. लगातार बदहाल हो रही कूड़ा कलेक्शन व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए मेयर ने चेतावनी भी जारी की, लेकिन इसका कोई खास असर देखने को नहीं मिला.

बाक्स

ईकोग्रीन के संसाधन

1481 कुल कर्मचारी लगभग

280 कुल ई-रिक्शा

337 हाथ रिक्शा

48 जिप

72 मिनी टिपर

889 कुल वाहन

बाक्स

यूजर चार्ज पर एक नजर

-2 करोड़ हर माह यूजर चार्ज का लक्ष्य

-50 से 100 रुपये करीब प्रति कंज्यूमर यूजर चार्ज

-पिछले 4 माह में 50 प्रतिशत यूजर चार्ज में आई कमी

भुगतान ना होने से स्थिति खराब

ईकोग्रीन कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि एक साल में टिपिंग फीस करीब 38 करोड़ हुई है. इसमें से निगम की ओर से सिर्फ 12 करोड़ का ही भुगतान किया गया है. आलम यह है कि दिसंबर 2017 से निगम की ओर से कोई भुगतान नहीं किया गया है. करीब 30 करोड़ रुपये का भुगतान किया जाना है.

वर्जन

हमारी ओर से 45 फीसदी घरों से कूड़ा कलेक्शन का कार्य किया जा रहा है. चूंकि निगम की ओर से भुगतान में विलंब किया जा रहा है, इसकी वजह से व्यवस्था प्रभावित हो रही है.

अभिषेक सिंह, एडवाइजर, ईकोग्रीन कंपनी

वर्जन

हमारी तरफ से पूरा प्रयास किया जा रहा है कि जल्द से जल्द शत प्रतिशत घरों से कूड़ा कलेक्शन का कार्य किया जाए. जिससे जनता को राहत मिल सके.

संयुक्ता भाटिया, मेयर