JAMSHEDPUR: स्टील सिटी में डीजल और बसों के एक्ससिरीज और मेंटीनेंस में वृद्धि के चलते शिक्षित बेरोजगार मिनी बस एसोसिएशन ने सर्वसम्मति से किराये में एक रुपये की वृद्धि की घोषणा की. यह निर्णय यूनियन की बैठक में शुक्रवार को लिया गया. बता दें कि अंतिम बार 2014 में भाड़ा में एक रुपये की बढ़ोतरी हुई थी. एसोसिएशन के सदस्यों ने कहा बस में सफर करनेवाले ज्यादातर मजदूर, गरीब, तथा स्टूडेंट होते हैं इसलिए एक रुपये की वृद्धि की गई है.

इनकी रही मौजूदगी

बैठक में अध्यक्ष संजय पांडे, महामंत्री शिवराम झा, राजेश प्रसाद, अशोक लाल, विवेक सिंह, चंद्रमोहन प्रसाद, नंद किशोर शर्मा, विनय सिंह, मोहम्मद आफताब, अमित झा, जर्नाधन प्रसाद, महेन्द्र सिंह, संजय सिंह, मनोज सिंह, संजीव सिन्हा, सहित सभी एसोसिएशन के पदाधिकारि मौजूद रहे.

दिसंबर से थी सुगबुगाहट

पिछले चार साल से सिटी बस का किराया न बढ़ने से मोटर मालिक लगातार किराया बढ़ाने की मांग कर रहे थे. बता दे कि 2014 में किराये में की गई एक रुपये की वृद्धि के बाद भी लोग पिछला किराया ही दे रहे थे. वहीं स्कूलों से आने जाने वाले स्टूडेंट भी परिचालकों को कम किराया देते हैं. हाल में ही पेट्रोल-डीजल की वृद्धि को देखते हुए एक बार किराया बढ़ाने का मामला खूब उछला, लेकिन रेट गिरने के चलते शांत हो गया था.

होती है परेशानी

शहर में यात्री को जल्दी और सुविधाजनक बस सेवा देने में पिछड़ रही बस सेवा ऑटो ड्राइवर्स की धमाचौकड़ी के आगे मात खा रही है. यहीं कारण है कि शहर में चलाई गई सरकारी बसों ने धीरे-धीरे दम तोड़ दिया. मोटर मालिकों ने बताया कि आज लोग जल्दी पहुंचना पसंद करते हैं. इस वजह से लोग बसों में बैठना नहीं चाहते है, लेकिन लंबी दूरी के लिए बसों का ही इस्तेमाल किया जाता है.

कहां के लिए कितना किराया

रूट पुराना भाड़ा नया भाड़ा

साकची से कांड्रा 19 20

साकची से स्टेशन 8 10

साकची से सुन्दर नगर 12 13

साकची से बारीडीह 7 8

साकची से गोविंदपुर 13 14

साकची से राहरगोड़ा 11 12

साकची से टेल्को 10 11

साकची से डिमना 8 9

साकची से आदित्यपुर कॉलोनी 10 11

लंबे समय से बस मालिक किराया बढ़ाने के लिए दबाव बना रहे थे. डीजल और एस्सेसिरीज की बढ़ी कीमतों के चलते सर्वसम्मति से किराये में एक रुपये की वृद्धि की गई है.

संजय पांडेय, अध्यक्ष, शिक्षित बेरोजगार प्राइवेट मिनी बस एसोसिएशन