बचे हुए 98 प्रतिशत लोगों को हवाई सफर कराने का है लक्ष्य
allahabad@inext.co.in
ALLAHABAD: रिजनल कनेक्ट स्कीम 'उड़ान' के तहत जेट एयरवेज ने गवर्नमेंट से टाईअप कर सस्ते दर पर हवाई उड़ान की सुविधा शुरू की है. क्योंकि पूरे देश में अब तक केवल दो प्रतिशत लोगों ने ही हवाई यात्रा की है, शेष 98 प्रतिशत जनता को अगले कुछ सालों में हवाई सफर कराने का लक्ष्य है. इस पर वर्क चल रहा है. जेट एयरवेज पिछले 25 वर्षो से पूरे देश को एक-दूसरे से जोड़ रहा है. इलाहाबाद से लखनऊ फ्लाईट शुभारंभ के अवसर पर इलाहाबाद पहुंचे जेट एयरवेज के डिप्टी सीईओ व सीएफओ अमित अग्रवाल ने यह जानकारी दी.

ज्वॉय ऑफ फ्लाइंग
फ्लाइट सेवा के शुभारंभ के मौके पर यहां आए अमित अग्रवाल ने मीडिया से बातचीत में कहा कि पूरे भारत में सिर्फ 2 प्रतिशत लोगों ने ही अब तक हवाई यात्रा की है. बाकी 98 प्रतिशत लोग अभी भी इस सफर के आनंद से वंचित हैं, लिहाजा अगले 18-20 साल तक 'ज्वॉय ऑफ फ्लाइंग' की परिकल्पना कायम रहेगी.

किफायती हुआ टिकट तो बढ़ा सफर
उन्होंने कहा कि जेट एयरवेज का प्रयास है कि वह उत्तर प्रदेश को अपना बड़ा बेस बनाए. क्योंकि पिछले 2 साल के दौरान खाड़ी देशों में जाने वालों में उत्तर प्रदेश के लोगों की तादाद सबसे ज्यादा है. पिछले 3 साल के दौरान उत्तर प्रदेश से घरेलू सफर में 60 प्रतिशत और अंतरराष्ट्रीय सफर में 24 प्रतिशत का इजाफा हुआ है. इसका मुख्य कारण हवाई टिकट का किफायती होना है. जेट एयरवेज का प्रयास केवल मेट्रो शहरों को जोड़ने का नहीं बल्कि छोटे शहरों को भी ज्यादा से ज्यादा कनेक्ट करने का है.

आराम से पहुंच सकेंगे श्रद्धालु
हवाई संपर्क अच्छा होने से अगले साल इलाहाबाद में लगने वाले कुंभ मेला पर भी साकारात्मक असर पड़ेगा. क्योंकि हवाई संपर्क जोड़ने से आप दुनिया की पहुंच वाले नक्शे में आ जाते हैं.

Business News inextlive from Business News Desk