- परिवर्तन यात्रा में सेना बनाकर स्वागत करने वालों की भेजी जा रही रिपोर्ट

-भाजपा की मीडिया टीम रख रही ऐसे लोगों पर गुपचुप तरीके से नजर

आई एक्सक्लूसिव

सुंदर सिंह

MEERUT : भाजपा की परिवर्तन यात्रा में पार्टी से इतर स्वागत व शक्ति प्रदर्शन करने वाले दावेदारों को झटका लग सकता है। शीर्ष नेतृत्व के निर्देश पर ऐसे दावेदारों पर नजर रखी जा रही है। पार्टी लाइन से हटकर अपने नाम से सेना बनाकर स्वागत करने वालों को चिंहिंत कर रिपोर्ट लखनऊ भेजी जा रही है। प्रदेश अध्यक्ष ऐसे लोगों को चिंहित कर स्वयं मामले की जांच करेंगे।

ये बनी थी रणनीति

परिवर्तन यात्रा शुरू करने से पहले ही रणनीति बनी थी कि ये कार्यक्रम सादगी से होंगे। नेताओं को स्मृति चिन्ह तलवार व गदा भेंट नहीं किए जाएंगे। कोई दावेदार राष्ट्रीय नेताओं को अपने घर जलपान व भोजन के लिए नहीं ले जाएगा। शीर्ष नेतृत्व का मानना था कि सादगी से निकाली जाने वाली यात्रा का प्रभाव जनता पर पड़ेगा।

मेरठ में खूब हुआ शक्ति प्रदर्शन

मेरठ में टिकट के कुछ दावेदारों ने जमकर शक्ति प्रदर्शन किया। स्वागत में सीमाएं लांघ दीं। शहर की सड़कों पर अपने नाम से होर्डिंग और पोस्टर टांग दिए गए। अपने नाम से टीशर्ट, कुर्ता बनवाकर कार्यकर्ताओं को पहना दिए। उन पर प्रधानमंत्री मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य व परिवर्तन यात्रा में आए नेताओं तक का नाम नहीं था। यात्रा में आए भाजपा के मीडिया कर्मियों ने इन सबको कैमरे में कैद कर लिया।

वर्जन

बीजेपी के प्रादेशिक मीडिया सेल के लोग परिवर्तन यात्रा की निगरानी के लिए लगाए गए थे। नियम तोड़ने वाले लोगों की जांच की जाएगी।

केशव प्रसाद मौर्य, प्रदेश अध्यक्ष बीजेपी

--