patna@inext.co.in

PATNA : पटना यूनिवर्सिटी कैंपस स्टूडेंट्स के दो गुटों के बीच हुई बमबाजी से दहल गया. अफरातफरी के बीच काफी देर तक स्टूडेंट्स के बीच वर्चस्व की जंग चलती रही. देखते ही देखते यूनिवर्सिटी पुलिस छावनी में तब्दील हो गई. पुलिस घटना की तह तक पहुंचने में जुटी है. दोनों गुटों के स्टूडेंट्स एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं. सिटी एसपी सेंट्रल प्राणतोष कुमार दास का दावा है कि घटना में शामिल स्टूडेंट्स पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

इकबाल और मिंटो हॉस्टल में सन्नाटा

मिंटो हॉस्टल में रहने वाले स्टूडेंट्स ने पटना यूनिवर्सिटी के ही इकबाल हॉस्टल के स्टूडेंट्स पर गंभीर आरोप लगाया.

इकबाल हॉस्टल के स्टूडेंट्स मिंटो हॉस्टल कैंपस में आए और लगातार चार बम फोड़े.

बमों धमाके से हर तरफ हड़कंप मचा दिया.

यूनिवर्सिटी कैंपस में बनी पीरबहोर थाना की टीओपी पर तैनात पुलिसकर्मी बम की आवाज सुनते ही मौके पर पहुंच गए.

बमबाजी करने वालों को पुलिस टीम ने देखा भी लेकिन इसके बाद भी उनकी गिरफ्तारी नहीं हो पाई.

स्टूडेंट्स के बीच यह पहली बमबाजी नहीं है. आए दिन ऐसी घटनाएं होती हैं.

दहशत में पीयू के स्टूडेंट्स

पटना यूनिवर्सिटी कैंपस में हुई घटना से पूरे कैंपस में दहशत है. स्टूडेंट्स का कहना है कि पूरा माहौल ही खराब हो गया है. ऐसे में सवाल यह है कि स्टूडेंट्स की सुरक्षा किसके भरोसे है. पुलिस पर भी आरोप है कि वह घटना के बाद मूक दर्शक बनी रही नहीं तो आरोपी स्टूडेंट्स की गिरफ्तारी हो जाती. कैंपस को पुलिस छावनी में तब्दील कर जांच पड़ताल की गई लेकिन कोई सुराग नहीं मिला है.

सीसीटीवी फुटेज से हो रही जांच

पटना यूनिवर्सिटी में हुई घटना की जांच सीसीटीवी फुटेज के आधार पर की जा रही है.

प्रथम दृष्टया पुलिस इस मामले को स्टूडेट्स के आपसी वर्चस्व को कारण मान रही है.

पुलिस फुटेज के आधार पर बमबाजी करने वालों की पहचान कर उनकी गिरफ्तारी का प्रयास कर रही है.

पुलिस ने एहतिहात के तौर पर फोर्स के साथ-साथ वाहनों को भी लगा दिया है जिससे भीड़ को कंट्रोल किया जा सके.

मिंटो हॉस्टल के लड़कों ने पीरबहोर थाना में कंप्लेन दर्ज करा दिया है.