अलीगढ़-आगरा में डिफेंस प्रोडक्शन कॉरीडोर में होगा 5 हजार करोड़ का निवेश

वेस्ट यूपी के लिए डिफेंस प्रोडक्शन कॉरीडोर निवेश की बड़ी संभावनाएं लेकर आ रहा है

>Meerut. आगरा-अलीगढ़ समेत यूपी के 6 जनपदों में डिफेंस प्रोडक्शन कॉरीडोर के निर्माण से यूपी के विकास को पंख लगेंगे. शनिवार को अलीगढ़ में केंद्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की मौजूदगी में डिफेंस इक्यूपमेंट मैन्यूफैक्चरर ने आगामी दिनों में वेस्ट यूपी में 5 हजार करोड़ रूपये के निवेश की कार्ययोजना बनाकर दी. इस पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ अपनी खुशी छिपा न सके और मेरठ में आयोजित प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में उन्होंने ऐलान कर दिया कि जल्द ही यूपी देश का नंबर वन प्रदेश बनेगा.

निवेश की सीढ़ी से विकास

सीएम योगी आदित्यनाथ प्रदेश में निवेश की सीढ़ी से विकास की कल्पना को साकार कर रहे हैं. बैठक में उन्होंने प्रदेशभर से जुटे जनप्रतिनिधियों के समक्ष अपने इस एजेंडे का खुलासा किया और साथ ही साथ अब तक मिली सफलताओं का जिक्र किया. आगरा-अलीगढ़ समेत वेस्ट यूपी के लिए डिफेंस प्रोडक्शन कॉरीडोर निवेश की बड़ी संभावनाएं लेकर आ रहा है. बैठक में सीएम योगी ने ऐलान किया कि 5 हजार करोड़ के निवेश से एनसीआर से सटे जनपदों में विकास और रोजगार की बयार बहेगी. उन्होंने गत दिनों हुई इंवेस्टर्स समिट के रिजल्ट की जानकारी देते हुए बताया कि 60 हजार करोड़ रूपये के निवेश पर गत 29 जुलाई को पीएम नरेंद्र मोदी के समक्ष इंवेस्टर्स ने मोहर लगाई थी. देश के शीर्ष औद्योगिक घरानों ने 30 हजार करोड़ रूपये के निवेश के प्रोजेक्ट तैयार किए कर लिए हैं. इसके अलावा 50 हजार करोड़ रूपये के निवेश का वादा उद्यमियों ने सरकार से किया है.

बना है निवेश का वातावरण

बैठक में सीएम ने स्पष्ट कर दिया कि कोई भी उद्यमी घाटे के लिए निवेश नहीं करता है. पूर्व सरकारों पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश में भय और अराजकता के माहौल में निवेश की कल्पना तक नहीं की जा सकती थी. सरकार विश्वास और निवेश का माहौल बनाने में सफल हुई है. उन्होंने इस दौरान उन्होंने डॉ. भीमराव आंबेडकर की समानता नीति का जिक्र करते हुए पूर्व सपा सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि हम सभी को बिजली देते हैं. पूर्व सरकार में सिर्फ 4 जनपदों को बिजली मिलती थी. कांवड़ यात्रा की सफलता को सीएम ने उपलब्धि बताई. देश में विकास की नींव रखने का श्रेय सीएम ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी को दिया.

मेरठ में मेट्राे का वादा

केंद्र सरकार की रैपिड रेल ट्रांजिट सिस्टम के दिल्ली-मेरठ कॉरीडोर को मेरठ के विकास के साथ जोड़ते हुए सीएम ने कहा कि अभी दिल्ली पहुंचने में 3 घंटे लगते हैं, रैपिड रेल के बाद केवल 60 मिनट लगेंगे. उन्होंने कहा कि इस योजना में केंद्र और राज्य सरकार के पूरी साझेदारी के साथ आगे बढ़ रहे हैं. रैपिड रेल के साथ मेरठ मेट्रो के संचालन का ऐलान योगी ने मंच से किया. पूर्वाचल एक्सप्रेस-वे परियोजना पर सपा की पूर्व सरकार को घेरते हुए सीएम ने कहा कि सपा ने इस योजना का 1500 करोड़ रूपये में पूरा करने के लिए टेंडर निकाले थे जबकि हम इसे 1100 करोड़ रूपये में पूरा कर रहे हैं. वेस्ट यूपी की दुखती रग पर हाथ रखते हुए सीएम ने कहा कि हम चीनी मिलों को बेच नहीं रहे हैं बल्कि नई मिलें लगा रहे हैं.