सीएम ने सम्राट अशोक कन्वेंशन सेंटर में इंडिया गेट की तर्ज पर बने सभ्यता द्वार का किया उद्घाटन

patna@inext.co.in

PATNA : सोमवार को बिहार के इतिहास में उस समय एक नया चैप्टर जुड़ गया. जब सीएम नीतीश कुमार ने सोमवार को गांधी मैदान के पास स्थित सम्राट अशोक कन्वेंशन सेंटर कैंपस में सभ्यता द्वार का लोकार्पण किया. साथ ही इसी कैंपस में उन्होंने सम्राट अशोक की प्रतीकात्मक आदमकद प्रतिमा का लोकार्पण भी किया. लोकार्पण कार्यक्रम के बाद कन्वेंशन सेंटर कैंपस स्थित ज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में सीएम ने कहा कि हमारी सबसे बड़ी पूंजी यहां का गौरवशाली इतिहास है. इस अवसर पर सीएम ने बिहार में बन रहे आइकॉनिक भवनों की भी चर्चा की. डिप्टी सीएम सुशील मोदी समेत राज्य मंत्रिमंडल के अन्य मेंबर मौजूद थे. सभ्यता द्वार का लोकार्पण होते ही सेल्फी लेने वालों की भीड़ उमड़ पड़ी.

इतिहास सांकेतिक रूप से दिखे भी

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार का इतिहास गौरवशाली है. जिसका सांकेतिक रूप दिखना भी चाहिए. इस भूमि और इस जगह के इतिहास को हमें याद रखना है. सकारात्मक चीजों को लेकर आगे बढ़ना चाहिए. उन्होंने कहा कि आज के दिन का काफी महत्व है. आज सभ्यता द्वार का लोकार्पण हुआ है. सम्राट अशोक की प्रतीकात्मक प्रतिमा के मूल में चंड अशोक से धम्म अशोक है. इस अवसर पर सीएम ने लेफ्टिनेंट जनरल एसके सिन्हा को याद करते हुए कहा कि उन्होंने कई बार मिलकर मुझसे पटना में इस तरह के सभ्यता द्वार बनाए जाने की बात कही थी.

बिहार म्यूजियम की चर्चा पूरी दुनिया में

सीएम ने कहा कि बापू सभागार को लोग देखते हैं तो आश्चर्यचकित हो जाते हैं. अनोखी निर्माण शैली है. इस तरह बिहार म्यूजियम की चर्चा आज पूरी दुनिया में हो रही है. जुलाई में बेली रोड में निर्माणाधीन पुलिस मुख्यालय भवन का भी उद्घाटन हो जाएगा. हम केवल म्यूजियम ही नहीं बना रहे बल्कि पीएमसीएच को व‌र्ल्ड क्लास अस्पताल बनाए जाने की दिशा में भी काम कर रहे हैं. ज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम का एक हिस्सा बिहार राज्य भवन निर्माण निगम के स्थापना दिवस समारोह का भी था. सीएम ने कहा कि भवनों के निर्माण के इस्टीमेट के साथ ही बिजली का इस्टीमेट भी बनना चाहिए.